नयी दिल्ली : कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता डी.के. शिवकुमार धनशोधन के एक मामले में पूछताछ के लिए शुक्रवार को यहां प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश हुए। अधिकारियों ने बताया कि शिवकुमार शाम करीब 6:30 बजे यहां खान मार्केट स्थित एजेंसी के मुख्यालय पहुंचे।

उनके साथ उनके समर्थक भी थे। अधिकारियों के मुताबिक कर्नाटक के पूर्व मंत्री का बयान धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत दर्ज किया जाएगा। ईडी ने पिछले साल सितंबर में शिवकुमार, नयी दिल्ली के कर्नाटक भवन के कर्मचारी हनुमंतैया और कुछ अन्य के खिलाफ धनशोधन का मामला दर्ज किया था।

CM येदियुरप्पा पर लगाया बदले की राजनीति का आरोप

इससे पहले कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री बी एस येदियुरपपा राज्य में ''बदले की राजनीति'' के बीज बो रहे हैं। उल्लेखनीय है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धनशोधन मामले में शिवकुमार को ताजा समन जारी किए हैं। पूर्व गठबंधन सरकार के कार्यकाल में घोषित विभिन्न परियोजनाओं को रोके जाने का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री ने येदियुरप्पा को धमकी दी कि यदि ''इस तरह के आदेश वापस नहीं लिए जाते और परियोजनाएं बहाल नहीं की जातीं'' तो वह धरना देंगे।

शिवकुमार ने कहा, ''मैं श्री येदियुरपपा को बधाई देना चाहता हूं जो मेरे महान मित्र हैं, जो अब राज्य के मुख्यमंत्री हैं।'' उन्होंने कहा, ''विधानसभा में उन्होंने (येदियुरप्पा) कहा था कि वह बदले की राजनीति नहीं करेंगे...मुझे खुशी है, मैं उन्हें बधाई देना चाहता हूं क्योंकि उन्होंने बदले की राजनीति के बीज बो दिए हैं।''

इसे भी पढ़ें :

ED के शिकंजे में एक और कांग्रेस नेता, आय से अधिक संपत्ति मामले में डीके शिवकुमार होंगे पेश

शिवकुमार ने दावा किया कि जिस दिन से येदियुरप्पा सत्ता में आए हैं, तब से कांग्रेस और जद (एस) के विधायकों के खिलाफ बदले की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व गठबंधन सरकार द्वारा मंजूर की गईं परियोजनाओं को रद्द किया जा रहा है।