नई दिल्ली : भाजपा के कद्दावर नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। तमाम नेता पार्टी और दल को भुलाते हुए उन्हें अपनी भावपूर्ण श्रद्धांजलि दे रहे हैं। कई नेता जेटली के साथ बिताने अपने दिन याद कर रहे हैं तो कुछ उन वाकये को बता रहे हैं, जो राजनीति में बेहद खास हैं।

बिहार की राजनीति से जुड़ा हुआ ऐसा ही एक वाकया सामने आया है। अरुण जेटली ने विपक्ष में रहने के बावजूद नीतीश कुमार को लालू प्रसाद यादव की साजिश के बारे में बताया था। जिसे नीतीश कुमार भांप गए और आगे चलकर अरुण जेटली की बात सही साबित हुई थी।

लालू यादव और नीतीश कुमार के साथ अरुण जेटली की मुलाकात जेपी आंदोलन के वक्त से थी। बाद में नीतीश कुमार एनडीए का हिस्सा बने तो अरुण जेटली के और करीब आ गए।

यह भी पढ़ें :

अलविदा अरुण जेटली : भाजपा के ‘संकटमोचक’ थे जेटली, देखें उनकी अनदेखी तस्वीरें

कैंसर से लड़ रहे जेटली अब नहीं रहे, ऐसी थी उनकी शख्सियत, करते थे गजब की शेर-ओ-शायरी

अरुण जेटली से जुड़े एक ऐसे ही किस्से का जिक्र करते हुए बताया गया कि साल 2017 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के फेयरवेल पार्टी में अरुण जेटली ने नीतीश कुमार को सावधान किया था कि लालू यादव जेडीयू को तोड़ना चाहते हैं। इस बातचीत के दौरान ही बिहार में एक बार फिर जेडीयू और भाजपा के गठबंधन की आधारशिला रखी गई।