बेंगलुरू : जेडीएस के नेतृत्व वाली पूर्व गठबंधन सरकार के दौरान फोन टैपिंग के आरोप सामने आने के कुछ दिनों बाद ही कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने रविवार को कहा कि वह कांग्रेस के कई नेताओं की मांग पर इन आरोपों की सीबीआई जांच का आदेश देंगे।

येदियुरप्पा ने पत्रकारों से कहा, ‘‘टेलीफोन टैपिंग के मुद्दे पर कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्दारमैया समेत कई नेताओं ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए और सच्चाई सामने आनी चाहिए, इसलिए मैंने सीबीआई जांच का आदेश देने का फैसला किया है। कल ही मैं जांच का आदेश दूंगा।''

उन्होंने कहा कि यह राज्य के लोगों की अपेक्षा है कि विस्तृत जांच की जाए और दोषियों को सजा दी जाए। गौरतलब है कि अयोग्य करार दिए गए जद (एस) विधायक एएच विश्वनाथ ने पिछले सप्ताह एच डी कुमारस्वामी की सरकार पर फोन टैप करने और उनके समेत 300 से अधिक नेताओं की जासूसी कराने के आरोप लगाए। इसके बाद येदियुरप्पा ने यह घोषणा की है।

सिद्दारमैया, एम. मल्लिकार्जुन खड़गे और गठबंधन सरकार में गृह मंत्री रहे एमबी पाटिल समेत कांग्रेस नेताओं ने जांच की मांग की है जबकि पार्टी के एक अन्य अहम नेता और पूर्व मंत्री डीके शिवकुमार ने आरोपों को खारिज कर दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार समेत कई भाजपा नेताओं ने कुमारस्वामी पर अपनी सरकार बचाने के लिए इस प्रकरण के पीछे होने का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें :

BJP विधायक ने धमकी देकर मचाई कर्नाटक में खलबली, बोला- गिरा दूंगा सरकार

येदियुरप्पा  ने  ली कर्नाटक के सीएम पद की शपथ, बोले- नहीं होगी प्रतिशोध की राजनीति

विधानसभा में विश्वास मत हारने के बाद पिछले महीने गठबंधन सरकार गिर गई थी। कुमारस्वामी ने इन आरोपों से इनकार किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मुझे फोन टैप करके कुर्सी बचाने की कोई जरूरत नहीं है। इस मामले में कुछ लोगों ने मेरे खिलाफ जो आरोप लगाए हैं, वे सच्चाई से परे हैं।''