कश्मीर में 370 हटाने से बौखलाए इमरान खान, कहा - भारत सिर्फ कश्मीर तक नहीं रुकेगा  

इमरान खान ने यह बात पीओके में कही है। - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 हटाने से पाकिस्‍तान बौखला उठा है। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने बुधवार को अनुच्छेद 370 को खत्म करने के भारत सरकार के फैसले पर युद्ध करने की धमकी दी है। पीओके में अपने ताजा भाषण में खान ने कहा कि उनके देश के लोग कश्मीर की "आजादी" के लिए लड़ने के लिए तैयार हैं।

दरअसल इमरान खान ने कहा कि भारत सिर्फ कश्मीर तक नहीं रुकेगा,  पीओके में भी बढ़ेगा। इमरान ने बालकोट एयर स्ट्राइक को भी दबी जुबान से स्वीकार कर लिया।

इमरान ने कहा, "भारत ने बालाकोट से ज्यादा खतरनाक प्लान बनाया है। बालाकोट से भी बड़ी कारवाई भारत पीओके में करेगा। पाक फौज को पूरी तरह पता है, इन्होंने प्लान बनाया हुआ है आजाद कश्मीर का। अगर युद्ध हुआ तो इसकी जिम्मेदारी दुनिया की होगी। हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे।"

खान ने भारतीय जनता पार्टी की जननी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर भी निशाना साधते हुए कहा कि आरएसएस की सोच हिटलर से प्रभावित है। यही नहीं खान ने देश में लिंचिंग की घटनाओं को जिक्र करते हुए कहा कि भारत में मुस्लिम समुदाय भय में जी रहा है।

खान ने कहा कि ''कश्मीर पर मोदी सरकार द्वारा हाल ही में उठाए गए कदम से घाटी में मौजूदा हालात खतरनाक बने हुए हैं। हम सभी इस मानवीय संकट के सत्य और इस तालाबंदी से पैदा हुए अत्याचारों के बारे में चिंतित हैं।"

भारत सरकार पर "रणनीतिक गड़बड़ी" करने का आरोप लगाते हुए, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा, "वह (नरेंद्र मोदी) अपना अंतिम कार्ड खेल रहे हैं, लेकिन यह भारत के लिए बहुत महंगा साबित होने वाला है।"

भारत में रहने वाले लगभग 18 करोड़ मुसलमानों को खतरे का हवाला देते हुए उन्होंने एक और आरोप लगाया। उन्होंने कहा: "प्रो भारतीय कश्मीरी राजनेता आज दो राष्ट्र सिद्धांत का समर्थन कर रहे हैं।"

इसे भी पढ़ें - अनुच्छेद 370 के हटते ही पाकिस्तान में मची खलबली, कल बुलाया संसद का संयुक्त सत्र

"हमारी सेना आतंकवाद के खिलाफ लगभग 20 साल की लड़ाई लड़ रही है। हमारे लोग हमारी स्वतंत्रता की रक्षा के लिए तैयार हैं। हम देख रहे हैं कि घटनाएँ यहाँ से कहाँ तक जाती हैं। पाकिस्तान पूरी तरह से तैयार है। हमारी सेना, हमारे लोग एक पृष्ठ पर हैं।" उन्होंने फैसला किया कि हम किसी भी उल्लंघन को बर्दाश्त नहीं करेंगे और इसका मुकाबला करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

Advertisement
Back to Top