दिल्ली : राज्यसभा के बाद लोकसभा में भी जम्मू कश्मीर को विशेषाधिकार देने वाले आर्टिकल 370 को हटाने का प्रस्ताव पास हो गया। जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती आर्टिकल 370 हटाने का जमकर विरोध कर रही हैं। फिलहाल, उनको और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला को सोमवार रात से ही नजरबंद किया गया है। इस बीच खबर आ रही है कि महबूबा मुफ्ती ने पार्टी के राज्यसभा सांसदों से इस्तीफा देने को कहा है।

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, महबूबा मुफ्ती के एक सहयोगी ने बताया कि जब वह घर से गेस्ट हाउस शिफ्ट हो रही थीं, तब उन्होंने संदेश दिया कि राज्यसभा के सांसद या तो इस्तीफा दें या फिर निष्कासन का सामना करें।

बता दें कि पीडीपी के दोनों सांसदों एमएम फैयाज और नाजिर अहमद ने राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल का विरोध किया था। इसके बाद पीडीपी सांसदों ने विरोध करते हुए राज्यसभा में ही संविधान की प्रति फाड़ दी कि जिसके बाद सभापति वेंकैया नायडू ने दोनों को बाहर भेज दिया था।