पटना : बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही अभी वक्त है, लेकिन वहां की राजनीतिक फिजा में गर्माहट महसूस की जा सकती है। लोकसभा चुनाव में एनडीए को मिले बहुमत से यह बात स्पष्ट है कि भाजपा, जेडीयू और एलजीपी एक साथ चुनाव लड़ेंगे, लेकिन मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा, इस पर सवाल उठ रहे हैं।

बिहार में नीतीश कुमार ही एनडीए के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे या कोई और इस पर चर्चा जोरों पर है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि नीतीश कुमार के सुशासन पर सवाल खड़े होने के बाद अब उनकी पार्टी के ही कुछ नेता नीतीश कुमार पर एक राय नहीं हो रहे हैं। जबकि कुछ लोगों का मानना है कि नीतीश कुमार खुद मुख्यमंत्री की रेस से बाहर होना चाहते हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री की रेस से क्यों अलग होना चाहते हैं नीतीश कुमार

बिहार में चमकी बुखार का कहर हो या अब बाढ़ की मार, नीतीश कुमार को जिस तरह फैसले लेने चाहिए थे, उन्होंने नहीं लिए। माना जा रहा है कि नीतीश अब खुद को पीछे खींचकर एक नए चेहरे को पार्टी की कमान सौंपना चाहते हैं। सूत्रों के मुताबिक, नीतीश ऐसे चेहरे को सीएम कैंडिडेट बनाना चाहते हैं, जिसे सभी स्वीकार कर सकें।

सूत्रों के अनुसार, नीतीश कुमार अब दूसरे नेताओं को मौका देना चाह रहे है। बेटे के सक्रिय राजनीति में न होने के कारण वह ऐसा चेहरा ढूंढ रहे हैं, जिसे सब स्वीकार कर सकें।

क्या प्रशांत किशोर हैं नीतीश की पसंद

जिस तरह से नीतीश कुमार ने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर को जेडीयू का उपाध्यक्ष बनाकर सबको चौंका दिया था, अगर वह अपनी जगह उन्हें सीएम उम्मीदवार घोषित कर दें तो कोई अहम बात नहीं होगी। नीतीश को प्रशांत किशोर पर पूरा भरोसा है।

यह भी पढ़ें :

जरा घूमकर देखिए नीतीश जी अपने बिहार का हाल, 77 लाख लोग देख रहे हैं आपकी राह

लालू के ‘भोले बाबा’ ने दी नीतीश कुमार को सलाह, फैमिली पर नहीं बिहार पर दीजिए ध्यान

PK के नाम पर क्या एकमत होगी पार्टी

प्रशांत किशोर को उपाध्यक्ष बनाए जाने का पार्टी में किसी तरह से विरोध नहीं हुआ, लेकिन क्या सीएम उम्मीदवार बनाए जाने पर भी सभी नेता शांत रहेंगे ऐसा कहना मुश्किल है। हालांकि सूत्रों का मानना है कि नीतीश के बाद प्रशांत किशोर ही ऐसे चेहरे हैं, जिसे अन्य वरिष्ठ नेता पसंद करते हैं।