रांची: काफी दिनों तक राजनीति से दूर रहने वाले लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने शनिवार को अपने पिता लालू प्रसाद यादव से रांची के रिम्स में जाकर मुलाकात की। तेजस्वी से पहले राष्ट्रीय जनता दल के दो दिग्गज नेताओं ने भी लालू से राजनीतिक मुद्दों पर चर्चा की।

लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद से ही तेजस्वी यादव कुछ पारिवारिक और राजनीतिक कारणों से राजनीतिक गतिविधियों से दूरी बनाए हुए थे। ऐसे में उनको लेकर तरह-तरह के कयास भी लगाए जा रहे थे, लेकिन कुछ दिन पहले जब उनकी मां की पहल पर तेजस्वी और तेजप्रताप एक साथ देखे गए। इसके साथ साथ तेजस्वी विधानसभा में भी अपनी हाजिरी दर्ज कराते पाए गए तो माना जाने लगा कि अब धीरे-धीरे राजनीतिक गतिरोध दूर हो जाएगा और लालू यादव के दोनों बेटे एक साथ मिलकर काम करेंगे।

माना जा रहा है कि पिता-पुत्र की इस मुलाकात में लालू यादव के परिवार में चल रहे आंतरिक कलह के अलावा बिहार-झारखंड की ताजा राजनीतिक परिस्थितियों पर भी चर्चा हुई है। अपने राजनीतिक गुरु और पिता लालू प्रसाद यादव से आशीर्वाद लेकर तेजस्वी यादव आगे की अपनी रणनीति तैयार करेंगे।

इसे भी पढ़ें :

इस तरह 13 महीने बाद जेल से बाहर आ सकते हैं लालू प्रसाद यादव..!

CBI ने की लालू यादव की सजा बढ़ाने की मांग, हाई कोर्ट ने सुनवाई से किया इनकार

तेजस्वी से पहले बिहार राष्ट्रीय जनता दल के दो दिग्गज नेताओं में भी लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की शिवानंद तिवारी और रघुवंश प्रसाद सिंह ने लालू से मिलकर पार्टी के संगठन और नेताओं की गतिविधियों पर विस्तार से जानकारी दी। लालू प्रसाद यादव से करीबन 2 घंटे तक चर्चा के बाद उनके सामने संगठन में फेरबदल का भी कुछ प्रस्ताव रखा।

इसके साथ ही साथ लालू के खास सिपहसालार माने जाने वाले विधायक भोला यादव ने भी रिम्स में विशेष परमिशन लेकर लालू से मुलाकात की और उनसे राजनीतिक हालात पर चर्चा की।

बेटे के साथ साथ दो दिग्गज नेताओं की लालू यादव के साथ इस मुलाकात के बाद लगता है कि राष्ट्रीय जनता दल में कुछ बदलाव देखे जा सकते हैं और तेजस्वी एक नई भूमिका में नए तेवर के साथ पार्टी का नेतृत्व करते हुए नजर आ सकते हैं।