लखनऊ : समाजवादी पार्टी के वरिष्‍ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खान ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने मॉब लिंचिंग की आलोचना करते हुए इसे देश बंटवारे के वक्त मुसलमानों के पाकिस्तान न जाने से जोड़ा है।

आजम खान ने कहा है कि मॉब लिंचिंग की सजा भारत के मुसलमान 1947 से पा रहे हैं। अगर मुसलमान पाकिस्तान चले जाते तो उन्हें यह सजा नहीं मिलती। मुसलमान यहां हैं तो हैं, सजा तो भुगतेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज क्यों नहीं गए पाकिस्तान? उन्होंने इसे अपना वतन माना। अब उन्हें इसकी सजा तो मिलेगी और वो सहेंगे।

आजम खान ने कहा कि 1947 में मुसलमान पाकिस्तान क्यों नहीं गए? ये मोलाना आजाद, पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरदार पटेल से पूछिए क्योंकि इन लोगों ने मुसलमानों से वादे किए थे।

इसे भी पढ़ें :

सोनभद्र जाने पर अड़ीं प्रियंका, बोलीं- नहीं लूंगी बेल चाहे भेज दो जेल

UP में आजम खान भू-माफिया घोषित, वेबसाइट पर दर्ज़ किया गया नाम

साथ ही उन्होंने ने कहा कि बापू (राष्ट्रपिता महात्मा गांधी) की अपील पर मुसलमान पाकिस्तान नहीं गए थे। बापू ने मुसलमानों से कहा था कि ये देश तुम्हारा है, अगर बंटवारा बाकी के मुसलमान भी चाहते तो देश की ये शक्ल नहीं होती।

आजम खान ने आगे कहा कि मुसलमान बंटवारे के हिस्सेदार ही नहीं थे और उसके गुनहगार भी नहीं थे, लेकिन आज उसकी सजा मिल रही है। उन्होंने कहा कि मुसलमान बंटवारे के बाद से लगातार सजा भुगत रहा है।

बता दें कि इनदिनों आजम खान भूमि विवाद को लेकर घिरे हुए हैं। उत्‍तर प्रदेश सरकार ने दो दर्जन से भी अधिक मामलों में फंसे आजम खान को 'भू-माफिया' की लिस्ट में शामिल किया है। रामपुर प्रशासन ने राज्य सरकार के ऐंटी-भू माफिया पोर्टल पर आजम खान को सूचीबद्ध कर दिया है।