पटना : उत्तर प्रदेश में अध्यक्ष पद पर स्वतंत्र देव की तैनाती के बाद अब कयास लगाए जा रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी का नया अध्यक्ष बिहार में भी जल्द ही जल्द देखने को मिलेगा । बिहार में अध्यक्ष पद पर नए नेताओं की रेस में कई दिग्गज नेताओं के नाम शामिल है, पर यह माना जा रहा है कि अब की बार किसी राजपूत को ही कमान सौंपी जाएगी।

भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार में जब से नित्यानंद राय शामिल हुए हैं तब से ही यह कयास लगाए जा रहे थे कि जल्द ही जल्द बिहार में नए भाजपा अध्यक्ष की तैनाती हो जाएगी, लेकिन यह मामला लगातार ढलता ही रहा है। अब उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में नए अध्यक्षों की तैनाती के बाद जल्द से जल्द बिहार में भी नए अध्यक्ष की आग लगाई जाने लगी है।

भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों का कहना है कि अबकी बार किसी सवर्ण को ही भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है। ऐसे में सबसे आगे भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार मंत्रिमंडल से प्राप्त किए गए नेताओं में शामिल राजीव प्रताप रूडी और राधा मोहन सिंह का नाम सबसे आगे बताया जा रहा है। हालांकि एक और नाम जनार्दन सिंह सिग्रीवाल का है लेकिन यह दोनों नेताओं के आगे कहीं नहीं टिकते हैं।

राजीव प्रताप रूडी (फाइल फोटो) 
राजीव प्रताप रूडी (फाइल फोटो) 

पार्टी सूत्रों की मानें तो अध्यक्ष पद की रेस में सबसे आगे राजीव प्रताप रूडी का नाम चल रहा है क्योंकि वे राष्ट्रीय प्रवक्ता के रूप में मुखर छवि रखते हैं। साथ ही साथ उनकी संगठन क्षमता पर भी पार्टी को एतबार है । इसलिए राजीव प्रताप रूडी को बीजेपी अध्यक्ष बनाकर बिहार में अपना जनाधार मजबूत करने की पहल कर सकती है।

राधा मोहन सिंह (फाइल फोटो) 
राधा मोहन सिंह (फाइल फोटो) 

इसके अलावा एक और नाम राधा मोहन सिंह का है जो पिछली मोदी सरकार में कृषि मंत्री थे। वह अखिल भारती विद्यालय विद्यार्थी परिषद जन संघ राष्ट्रीय सेवक संघ सहित तमाम संगठनों से गहराई से जुड़े रहे हैं। वह बिहार में पहले भी पार्टी का नेतृत्व कर चुके हैं। उन्होंने पार्टी और संगठन काफी जोर दिया था. इसलिए उनका नाम भी अध्यक्ष पद पर प्रमुखता से लिया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :

अब समाजवादी पार्टी के दो और सांसद कर रहे हैं भाजपा में जाने की तैयारी, यह है प्लान

RSS की कुंडली खंगालने वाली चिट्ठी पर बुरे फंसे नीतीश, नहीं देते बन रहा जवाब

इसके अलावा अगर देखा जाए तो चर्चा में मिथिलेश तिवारी और मंगल पांडे के भी नाम हैं ।मिथिलेश तिवारी फिलहाल प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश के संगठन एक इकाई में उनके अच्छे संबंध है। वह पार्टी की ओर से कई बार मीडिया में भी राय रखने के लिए जाते हैं। इसके अलावा मंगल पांडे भी पार्टी के अध्यक्ष रह चुके हैं।

उन्होंने पार्टी के जनाधार को मजबूत करने में काफी मेहनत की थी हिमाचल और झारखंड में बीजेपी को अच्छी कामयाबी भी दिला चुके हैं। ऐसे में उन पर भी भारतीय जनता पार्टी की नजर है, लेकिन उनके साथ चमकी बुखार का फैक्टर जुड़ा हुआ है जो उनके विपरीत जा सकता है क्योंकि यह सारा मामला उनके स्वास्थ्य मंत्री रहते उजागर हुआ है। इससे उनके मंत्रिमंडल में काफी किरकिरी हुई और भारतीय जनता पार्टी पर भी सवाल उठाए हैं।