लखनऊ: समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव अपनी पत्नी और पूर्व सांसद डिंपल यादव का चुनाव में किसी सीट से उतारने की तैयारी कर रहे हैं। उनके लिए एक ऐसी सुरक्षित चीज को दी जा रही है जहां पर उनकी जीत सुनिश्चित हो।

समाजवादी पार्टी की नेता डिंपल यादव को फिलहाल रामपुर जिले की सीट से उपचुनाव में उतारने की कोशिश तेजी से की जा रही है। यह सीट सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान के लोकसभा सांसद चुने जाने के बाद खाली हुई है।

सूत्रों की मानें तो भारतीय जनता पार्टी यहां से जयप्रदा को टिकट दे सकती है। ऐसे में उनकी काट के रूप में समाजवादी पार्टी यहां से डिंपल यादव को चुनावी मैदान में खड़ा कर सकती है।

इसे भी पढ़ें :

कभी भी हो सकती है आजम खान की गिरफ्तारी, अब तक दर्ज हो गये हैं 23 मामले

क्या अखिलेश पूरा करेंगे मुलायम सिंह यादव की यह ख्वाहिश..!

आपको बता दें कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी अबकी बार कन्नौज जैसी सुरक्षित माने जाने वाले लोकसभा सीट से भी चुनाव हार चुकी हैं और पार्टी के नेता चाह रहे हैं कि डिंपल यादव लोकसभा में नहीं जा सकी हैं तो उन्हें विधानसभा में भेजा जाए।

ऐसे में रामपुर की सीट उनके नजरिए से काफी मजबूत मानी जा रही है और बताया जा रहा है कि सांसद आजम खान की चाहते हैं कि डिंपल यादव केवल यहां विधानसभा सीट से चुनाव में उतरने को तैयार हो जाएं। बाकी काम वह खुद संभाल लेंगे।

इसे भी पढ़ें :

राम नाईक ने इस तरह बताया अखिलेश और योगी में कौन बेहतर CM!

आजम खान वैसे भी अपनी सुरक्षित सीट किसी ऐसे दावेदार को नहीं देना चाहते हैं, जो बाद में उनके लिए मुसीबत बने और उनके परिवार में किसी और को टिकट मिलना मुश्किल लग रहा है। इसके पीछे कारण साफ है कि आजम खान खुद सांसद हैं, आजम खान की पत्नी राज्यसभा सदस्य और बेटा विधानसभा सदस्य है। इसलिए आजम खान यही चाह रहे हैं कि अखिलेश यादव के परिवार का कोई सदस्य उनकी इस विरासत को आगे बढ़ाए।