नई दिल्ली: मोदी सरकार के मंत्री शुभ-अशुभ, अच्छा-बुरा के साथ-साथ ग्रह- नक्षत्र और वास्तु देखकर ही कोई काम करते हैं। कुछ ऐसा ही मामला अब एक बंगले को लेकर आ रहा है, जहां पर कोई भी मोदी सरकार का मंत्री रहने को तैयार नहीं है। मंत्रियों का कहना है कि यह बंगला काफी अशुभ है।

पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कृष्णा मेनन मार्ग पर अपना बंगला खाली कर दिया है। पर जेटली के द्वारा खाली किए गए इस मामले में कोई भी मंत्री जाने को तैयार नहीं है। कहा जा रहा है कि इस बंगले में वास्तु दोष है, जिससे यहां रहने वाले को तरह तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली
पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली

ऐसा है बंगला का इतिहास

2, कृष्णा मेनन मार्ग पर पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली रहा करते थे और वह फिलहाल कैंसर जैसी भयंकर बीमारी से जूझ रहे हैं । इसके पहले इस बंगले में कांग्रेस सरकार के वरिष्ठ नेता और पूर्व दूरसंचार मंत्री सुखराम भी रह चुके हैं, जो टेलीकॉम घोटाले में फंसे थे और उनके बाथरूम श्री करंसी नोट भी बरामद हो चुके थे।

इतना ही नहीं इस बंगले में पूर्व केंद्रीय मंत्री मुलायम सिंह यादव भी रह चुके हैं और इस बंगले में रहने के दौरान ही उनको स्वास्थ्य संबंधी कभी गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ा था।

अब इन्हीं बीती बातों को ध्यान में रखकर कई मंत्री इस बंगले में जाने से बच रहे हैं। उनका कहना है कि इस बंगले में जरूर कुछ न कुछ दोष है, जिससे यहां रहने वाला किसी न किसी परेशानी में फंस जाता है।