पटना : बिहार में मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल ने हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के लिए तेजस्वी प्रसाद यादव के बिहार विधानसभा में विधायक दल के नेता पद से इस्तीफे की पेशकश को गुरुवार को अस्वीकार कर दिया ।

राजद विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी के विधायक भाई वीरेंद्र, एजिया यादव और शक्ति यादव ने गुरूवार को बताया कि तेजस्वी हमारे नेता हैं और पार्टी के सभी विधायक और विधान पार्षद उनके साथ हैं ।

नेताओं ने बताया कि पार्टी विधायक दल की बैठक के दौरान विधायक दल के नेता पद से उनके त्यागपत्र के प्रस्ताव को सर्वसम्मति से खारिज कर दिया गया और उनसे कहा गया कि यदि उन्होंने ऐसा किया तो सभी विधायक अपने पद से इस्तीफा दे देंगे ।

हालांकि राजद नेताओं ने यह स्पष्ट नहीं किया कि तेजस्वी ने इस्तीफे की पेशकश गुरुवार को की थी या इससे पहले की गयी थी ।

इसे भी पढ़ें :

बदले-बदले से दिखाई दिए तेजस्वी यादव, नीतीश सरकार को घेरने का ये है प्लान

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से राजनीतिक परिदृश्य से गायब रहे तेजस्वी 28 जून से शुरू हुए विधानसभा के मानसून सत्र के पांचवे दिन गुरूवार को सदन में पहुंचे ।

तेजस्वी ने मीडियाकर्मियों के सवालों को टालते हुए कहा कि सवाल और जवाब किसी और दिन हो सकते हैं।

उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा कि वह उन्हें कल पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में और उसके बाद राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सुनेंगे। बिहार विधानसभा में जदयू के मुख्य सचेतक रत्नेश सदा ने प्रतिपक्ष के नेता के सदन से अनुपस्थित रहने पर सवाल उठाया था ।