बेंगलुरु : लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना कर चुकी कांग्रेस पार्टी अब हार के कारणों को खोज रही है। इसी के तहत कर्नाटक में चुनावी नतीजों की समीक्षा कर चुके पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली ने राज्य में पार्टी की हार की वजह बताई।

उन्होंने कहा कि जेडीएस के साथ गठबंधन की वजह से कांग्रेस पार्टी की हार हुई है। उन्होंने कहा कि राज्य की गठबंधन सरकार के प्रति लोगों में जो विरोध है, उसका असर कांग्रेस पार्टी पर पड़ा है।उन्होंने कहा कि अगर लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी अपने दम पर चुनाव लड़ी होती तो उसे कम से कम 15 से 16 सीटें मिली होती।

इसे भी पढ़ें :

कर्नाटक में खतरे में सरकार, देवगौड़ा ने जताई मध्यावधि चुनाव की आशंका

गौरतलब है कि चिक्कबल्लापुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाले वीरप्पा मोइली भाजपा उम्मीदवार बी.एस. गौड़ा के हाथों हार गए थे। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस का जेडीएस के साथ चुनावी गठबंधन नहीं रहा होता, तो उनकी जीत जरूर पक्की थी। राज्यभर के 28 लोकसभा सीटों में कांग्रेस पार्टी को केवल एक सीट पर जीत मिली थी, जबकि भाजपा ने 25 सीटें जीती थीं।