पटना : बिहार सरकार ने राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव को क्लीन चिट दे दी है। जबकि इस मामले में भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तेजस्वी पर धन के दुरुपयोग का आरोप लगाया था।

जानकारी के अनुसार, तेजस्वी यादव पर राजधानी पटना के 5 देशरत्न मार्ग स्थित बंगले की मरम्मत के नाम पर सरकारी धन के दुरुपयोग का आरोप लगाया गया था। अब नीतीश कुमार की सरकार ने उन्हें क्लीन चिट दे दी है। निर्माण विभाग के सचिव चंचल कुमार ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि धन का खर्च तय मानक के अनुरूप ही है।

चंचल कुमार ने कहा कि सरकारी धन का इस्तेमाल अलग-अलग कार्यों के लिए अलग-अलग वक्त में किया गया और यह तय मानक से अधिक

भी नहीं है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को मिले बंगले पर मानक से ज्यादा पैसे खर्च करने के मामले में कोई भी जांच अमल में नहीं लाई गई है।

यह भी पढ़ें :

नीतीश कुमार ने ढूंढा भाजपा से अलग होने का रास्ता !

बिहार में पोस्टर लगा के खोजे जा रहे हैं लालू के लाल, मिलेगा इनाम

गौरतलब है कि यह बंगला मुख्यमंत्री के सरकारी आवास के निकट स्थित है। जो साल 2015 में सरकार बनने के बाद तेजस्वी यादव को उपमुख्यमंत्री के तौर पर मिला था। गठबंधन टूटने के बाद और सुशील मोदी के उपमुख्यमंत्री बनते ही 2017 में यह बंगला उन्हें दे दिया गया था। हालांकि तेजस्वी इस बंगले को छोड़ना नहीं चाहते थे।