नयी दिल्ली। कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह आरोप लगाना भाजपा को शोभा नहीं देता कि राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान राहुल गांधी की नजर अपने मोबाइल फोन पर थी। पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने यह सवाल भी किया कि अभिभाषण के दौरान भाजपा के कई नेता और मंत्री आपस में बातें कर रहे थे, लेकिन इस पर कुछ कहना उचित है? उन्होंने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘इस तरह की टिप्पणी पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी जा सकती।

राहुल जी हमारे साथ बैठे थे और सुन रहे थे। अब यह कहा जाए कि भाजपा का कौन सा नेता किससे बात कर रहा था, कहां देख रहा था? गंभीर और सत्तारुढ़ राजनीतिक दलों को ऐसी टिप्पणी शोभा नहीं देती है।'' शर्मा ने कहा, ‘‘कुछ हिंदी के जटिल शब्द और उन्होंने स्पष्ट रूप से नहीं सुना था और उसी के संदर्भ में पूछे रहे थे। अगर भाजपा के वरिष्ठ मंत्री आपस में बात कर रहे थे तो क्या वह राष्ट्रपति के पद का अनादर कर रहे थे?''

इसे भी पढ़ें

सदन में राहुल गांधी क्या देख रहे थे मोबाइल पर, अब मचने लगा है हंगामा...!

दरअसल, केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और बाबुल सुप्रियो सहित सत्तापक्ष के कई सांसदों ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नजर मोबाइल फोन पर होने संबंधी तस्वीर सामने आने के बाद उन पर तंज कसते हुये इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया।