लखनऊ : उत्तर प्रदेश में अपनी राजनीतिक जमीन तलाशती कांग्रेस एक नया प्रयोग कर सकती है। भले ही लोकसभा चुनाव में पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का उत्तर प्रदेश में जादू नहीं दिखा, लेकिन अब 2022 के विधानसभा चुनाव में प्रियंका के भरोसे ही पार्टी को फिर से खड़ा करने की तैयारी है।

उत्तर प्रदेश में कार्यकर्ताओं ने मांग की है कि प्रियंका गांधी को अभी से ही पूरे प्रदेश की जिम्मेदारी सौंप दी जाए और उनके नेतृत्व में ही 2022 का विधानसभा चुनाव लड़ा जाए। कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाए जाने की मांग उठाई है।

मुख्यमंत्री का चेहरा बनेंगी प्रियंका

दरअसल, कांग्रेस महासचिव और पश्चिमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शुक्रवार को लोकसभा सीटवार समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने उन सभी पहलू पर ध्यान दिया, जो आने वाले समय में कांग्रेस के लिए बेहद कारगर साबित हो। इस दौरान उन्हें कार्यकर्ताओं की इस मांग से भी अवगत कराया गया कि सभी चाहते हैं कि प्रियंका उत्तर प्रदेश की राजनीति में पूरी तरह से उतर आएं।

सिंधिया का जवाब

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस को राज्य में मजबूत किया जाएगा और 2022 का विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ने की तैयारी की जाएगी। प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री का चेहरा बनाए जाने के सवाल पर सिंधिया ने कहा कि इसका फैसला नेतृत्व ही करेगा।

यह भी पढ़ें :

क्या राहुल गांधी ने छोड़ दिया सरकारी आवास..?  इस वजह से उठ रहे सवाल

राहुल गांधी के ये पांच प्लान कांग्रेस के लिए साबित होगा ‘वरदान’, जानिए क्या है रणनीति !

उपचुनाव के बारे में उन्होंने कहा, "अगले चरण में उपचुनाव की एक-एक सीट के बारे में स्थानीय नेतृत्व से चर्चा करके प्रत्याशियों के बारे में फैसला किया जाएगा। बूथ स्तर तक संगठन के पुनर्गठन के बारे में निर्णय लेंगे। अच्छे प्रत्याशियों को आगे करके फैसला लिया जाएगा।"