पटना : बिहार की राजनीति में रोज एक नया सिगूफा सामने आ रहा है। अब तक भाजपा और जेडीयू के बीच बढ़ती दूरी की चर्चाएं आम थी, लेकिन इस बार बिहार में नए मुख्यमंत्री की मांग शुरू हो गई है। यह नाम कोई और नहीं बल्कि बेगूसराय के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का है।

अपने बयानों से सूर्खियों में रहने वाले गिरिराज सिंह को बिहार का मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग उठने लगी है। दरअसल, रविवार को गिरिराज सिंह चुनाव जीतने के बाद पहली बार अपने संसदीय क्षेत्र बेगूसराय पहुंचे। यहां पर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ भाजपा सांसद गिरिराज सिंह (फाइल फोटो)
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ भाजपा सांसद गिरिराज सिंह (फाइल फोटो)

गिरिराज सिंह को अपने बीच पाकर उत्साही भाजपा कार्यकर्ताओं ने नारे लगाने शुरू कर दिए। समर्थकों ने नारा लगाया कि अगला मुख्यमंत्री कैसा हो, गिरिराज सिंह जैसा हो। पार्टी के नेताओं ने कहा कि हम गिरिराज को राज्य का अगला मुख्यमंत्री देखना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें :

अध्यक्ष के पद पर भाजपा खेल सकती है बड़ा दांव

नीतीश कुमार ने ढूंढा भाजपा से अलग होने का रास्ता !

बिहार में भाजपा के अंदर इस तरह उठ रही मांग बेशक जेडीयू और नीतीश कुमार के लिए अच्छी खबर नहीं है। पहले ही दोनों पार्टियों के बीच अनबन सामने आ चुकी है। बिहार में जल्द ही चुनाव भी होने हैं। इससे पहले इस तरह की मांग कहीं न कहीं भाजपा और जेडीयू के अलग रास्ते दर्शाते हैं।

पहले भी गिरिराज सिंह और नीतीश कुमार के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर देखा जा चुका है। नीतीश कुमार ने कहा कि सुर्खियों में बने रहने के लिए गिरिराज सिंह बयानबाजी करते हैं, जबकि इफ्तार पार्टी पर तंज करते हुए गिरिराज ने एक ट्वीट किया था जिसमें नीतिश कुमार और रामविलास पासवान की अन्य नेताओं के साथ फोटो शेयर करते हुए कहा था कि इसी तरह फलाहार का कार्यक्रम नवरात्रि पर भी कराया जाना चाहिए।