पटना। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) में बगावत के सुर बुलंद होने लगे हैं। मुजफ्फरपुर जिले से पार्टी के एक विधायक ने पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव से बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा मांगा है।

मुजफ्फरपुर जिले के गायघाट से राजद विधायक महेश्वर प्रसाद यादव ने यहां सोमवार को पत्रकारों से कहा कि परिवारवाद के कारण राजद की यह दुर्गति हुई है।

उन्होंने कहा, "राजद परिवार के चक्कर में उलझा हुआ है, और उसी के कारण पार्टी की बुरी हालत हुई है।"

उन्होंने राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनाने से लेकर तेजस्वी को उपमुख्यमंत्री बनाए जाने और सरकार से बाहर होने के बाद विपक्ष का नेता बनाए जाने का उदाहरण देते हुए कहा कि राजद में कई वरिष्ठ नेता हैं, जिन्हें यह जिम्मेदारी दी सकती थी, परंतु परिवारवाद के कारण परिवार के लोगों को ही जिम्मेदारी दी गई।

इसे भी पढ़ें :

बिहार में विधानसभा चुनाव होने पर महज इतनी सीटों पर सिमट जाएगा महागठबंधन!

उन्होंने कहा, "तेजस्वी को बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। अगर तेजस्वी इस्तीफा देकर किसी बड़े नेता को यहां नहीं बैठाते हैं तो अगले चुनाव में पार्टी की और दुर्दशा होगी।"

उन्होंने यह भी कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार के साथ जाने के बाद ही राजद को यह सफलता मिली, वरना राजद को विधानसभा में इतनी सीटें नहीं मिलतीं।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा चुनाव में बिहार की 40 सीटों में से राजद नीत महागठबंधन में शामिल कांग्रेस को एक सीट मिली, जबकि राजद का खाता तक नहीं खुला।