तेजस्वी सूर्या बने भाजपा के सबसे युवा सांसद, जानिए संसद तक का उनका सफर

बेंगलुरू दक्षिण से भाजपा सांसद  तेजस्वी सूर्या (फाइल फोटो) - Sakshi Samachar

बेंगलुरू : लोकसभा चुनाव 2019 कई मायनों में खास रहा। जनता ने एक बार फिर पूर्ण बहुमत की सरकार चुनी, तो दूसरी तरफ ऐसे नेताओं को हार का मुंह देखना पड़ा, जो राजनीति के धुरंधर कहे जाते हैं। चुनाव की गहमागहमी के बीच एक नाम जो काफी चर्चा में रहा, वो है तेजस्वी सूर्या का। जो भाजपा के सबसे युवा सांसद के तौर पर संसद के गलियारों तक पहुंचे।

भाजपा उम्मीदवार तेजस्वी सूर्या ने बेंगलुरु दक्षिणी से बड़ी जीत दर्ज की है। सूर्या ने कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को तीन लाख से अधिक वोटों से हराया। बेंगलुरू दक्षिण से भाजपा ने तेजस्वी सूर्या को मौका दिया था। इस सीट पर दिवंगत भाजपा नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने छह बार जीत दर्ज की थी।

जानिए कौन हैं तेजस्वी सूर्या

तेजस्वी सूर्या मूल रूप से कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले के रहने वाले हैं। वह कर्नाटक हाईकोर्ट में वकालत भी करते हैं। राजनीति परिदृष्य की बात करें तो सूर्या के चाचा एल.ए. रविसुब्रमण्यन बासावानगुडी विधानसभा से विधायक हैं। सूर्या भाजपा की राष्ट्रीय सोशल मीडिया टीम के सदस्य हैं और भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश महासचिव हैं।

सूर्या राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) में रहे हैं। वह लगातार स्थानीय मुद्दों पर सक्रिय रहे हैं। लोगों के बीच उनकी स्वयं सेवक वाली छवि काफी पसंद की जाती है।

यह भी पढ़ें :

विरासत ढोने वाले लोगों को जनता ने दिखाया आईना, जानिए हार गए कौन कौन दिग्गज

Election Results 2019 : जानिए कौन हैं सबसे ज्यादा और सबसे कम अंतर से जीतने वाले सांसद

टिकट मिलने पर ऐसी थी प्रतिक्रिया

भाजपा से टिकट मिलने पर तेजस्वी सूर्या को उस वक्त तो विश्वास भी नहीं हुआ था। उन्होंने ट्वीट किया "हे भगवान। हे भगवान। मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के अध्यक्ष ने बेंगलुरू दक्षिण जैसी प्रतिष्ठित सीट के लिए 28 वर्षीय युवक पर अपना विश्वास जताया है।" उन्होंने कहा, "यह सिर्फ भाजपा में हो सकता है। सिर्फ नरेंद्र मोदी के 'न्यू इंडिया' में।"

Advertisement
Back to Top