नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों के बाद शनिवार का दिन इस्‍तीफों का रहा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जहां CWC की बैठक में अध्‍यक्ष पद छोड़ने की पेशकश की तो वहीं चुनाव के दौरान मोदी-शाह को बार-बार आंख दिखाने वाली पश्‍चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने इस्तीफे की पेशकश कर दी।

शाम-शाम होते-होते खबर मध्‍य प्रदेश से कमलनाथ की आ गई। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया। बता दें उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष राज बब्‍बर पहले ही राहुल को अपना इस्‍तीफा सौंप चुके हैं।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव दीपक बाबरिया ने कहा है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद से अपने इस्तीफे की पेशकश की है। दीपक बाबरिया ने कहा, 'सीएम कमलनाथ ने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से अपने इस्तीफे की पेशकश की है।'

बता दें कि मध्य प्रदेश में लोकसभा की 29 सीटें हैं लेकिन राज्य में कांग्रेस पार्टी को 1 सीट को छोड़कर किसी पर भी सफलता हासिल नहीं हुई है।

इसे भी पढ़ें :

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक: राहुल ने की इस्तीफे की पेशकश, CWC ने ठुकराया-सुरजेवाला

... तो इस वजह से हुई अमेठी में राहुल गांधी की हार, शुरू हुआ आरोप- प्रत्यारोप का दौर

गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी पार्टी की करारी हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस कार्यसमिति के सामने अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी। हालांकि कांग्रेस कार्यसमिति ने राहुल गांधी का इस्तीफा लेने से मना कर दिया था।

कार्यसमिति की इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कार्यसमिति के अन्य सदस्य शामिल हुए थे। बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। पार्टी सिर्फ 52 सीटों पर ही जीत हासिल कर पाई है।