नई दिल्ली : लोकसभा चुनावों के लिये चल रही मतगणना में 41 मौजूदा महिला सांसदों में से सोनिया गांधी, हेमा मालिनी और किरण खेर सहित 28 महिला सांसदों के अपनी-अपनी सीटें बरकरार रखने की संभावना है। हालांकि चुनाव में स्मृति ईरानी और प्रज्ञा ठाकुर की जीत से सबका ध्यान इन दोनों पर ही टिकने की संभावना है।

जिन प्रमुख महिला चेहरों के इस बार लोकसभा चुनाव जीतने की संभावना है उनमें रायबरेली से कांग्रेस सांसद सोनिया गांधी, सुल्तानपुर से उम्मीदवार एवं पीलीभीत से मौजूदा सांसद मेनका गांधी, मथुरा से भाजपा सांसद हेमा मालिनी, चंडीगढ़ से भाजपा उम्मीदवार किरण खेर, कन्नौज से सपा सांसद डिंपल यादव और नयी दिल्ली से सांसद मीनाक्षी लेखी के नाम शामिल हैं।

ये भी पढ़ें: Amethi Election Results 2019 : हार गए राहुल गांधी, स्मृति ईरानी को दी बधाई

आसनसोल से उम्मीदवार एवं बांकुड़ा से मौजूदा तृणमूल सांसद मुनमुन सेन, सिलचर से सांसद कांग्रेस की सुष्मिता देव, सुपौल से सांसद कांग्रेस की रंजीत रंजन, बर्द्धमान-दुर्गापुर से तृणमूल की उम्मीदवार ममताज संघमीता, हुगली से सांसद तृणमूल की रत्ना डे और लालगंज से सांसद नीलम सोनकर उन महिला सांसदों में शामिल हैं जो रूझानों में पीछे हैं।

छोटे पर्दे की हर दिल अजीज बहू ‘तुलसी' और ‘गांधी परिवार' के गढ़ अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली स्मृति ईरानी ने एक बड़ा उलटफेर करके राजनीति के गलियारों में अपना कद काफी ऊंचा कर लिया है । केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पिछली बार राहुल से अमेठी में एक लाख से अधिक मतों से हार गई थी। इस बार फिर उसी संसदीय क्षेत्र से भाजपा ने उन्हें टिकट दिया और पिछले पांच साल से अमेठी में सक्रिय ईरानी ने गांधी से उस हार का बदला ले लिया।

ये भी पढ़ें: उत्त्तराखंड में भाजपा का क्लीन स्वीप, पांचों सीटें रखी बरकरार

वहीं प्रज्ञा ठाकुर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ जीत गयी हैं। इस बार संसद में जाने वाली प्रमुख महिलाओं में थुटुकुडी से कनिमोई करुणानिधि और भाजपा की रीता बहुगुणा शामिल हैं जो उत्तर प्रदेश की इलाहाबाद सीट से आगे चल रही हैं। बंगाली अभिनेत्री एवं तृणमूल नेता लॉकेट चटर्जी भी हुगली सीट से आगे चल रही हैं। अपने-अपने सीट से फिर से चुनाव लड़ रहीं और रूझानों में आगे चल रहीं 16 महिला सांसद भाजपा से हैं।

रुझानों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी दूसरे कार्यकाल के लिये शानदार जीत की दिशा में बढ़ती दिख रही है और ऐसा प्रतीत होता है कि राष्ट्रवाद, सुरक्षा, हिंदू गौरव और नये भारत के उनके संदेश को देश के बड़े क्षेत्र में मतदाताओं का समर्थन मिला है।