लखनऊ : EVM की सुरक्षा को लेकर विपक्षी दलों की आशंकाओं के बीच चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर बृहस्पतिवार को मतगणना के लिए विशेष इंतजाम किये हैं । मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि मतगणना के मद्देनजर राज्य भर में बड़ी तादाद में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गयी है ।

मतगणना सुबह आठ बजे शुरू होगी । केवल वैध पासधारक ही मतदान केन्द्रों में प्रवेश कर सकेंगे । सूत्रों ने बताया कि लगभग दर्जन भर संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त एहतियात बरती जा रही है और निषेधाज्ञा लागू की गयी है । चुनाव आयोग ने विजय जुलूस पर प्रतिबंध लगा रखा है ।

आयोग ने स्पष्ट कहा है कि आदेशों के अनुपालन में किसी तरह की ढिलायी बर्दाश्त नहीं की जाएगी । मतदान केन्द्रों पर तीन स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गयी है । मतगणना सुचारू रूप से संचालित करने और कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिहाज से अर्द्धसैनिक बलों के 20 हजार कर्मी, पीएसी के 10 हजार कर्मी और लगभग दो लाख जिला पुलिसकर्मी तैनात किये गये हैं ।

इसे भी पढ़ें :

Election Results 2019 : VVPAT पर्चियों के मिलान की मांग चुनाव आयोग ने ठुकराई

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने बताया कि सभी इंतजाम पूरे हो गये हैं । मतगणना ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया गया है ।

उन्होंने बताया कि मतगणना प्रक्रिया के लिए निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के आदेश दे दिये गये हैं । लू ने बताया कि इस बार के परिणामों में विलंब हो सकता है क्योंकि हर विधानसभा क्षेत्र में पांच बूथों का वीवीपैट पर्चियों से पुनर्मिलान किया जाएगा ।

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों के लिए सात चरणों में मतदान हुआ । कुछ जगहों पर ईवीएम की गड़बड़ी की शिकायत के अलावा राज्य में मतदान आम तौर पर शांतिपूर्वक संपन्न हुआ । विपक्षी दलों ने हालांकि ईवीएम की सुरक्षा को लेकर आशंकाएं व्यक्त की हैं ।