नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और सांसद उदित राज ने EVM विवाद पर अब तक का सबसे तीखा बयान सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ दिया है। उन्होंने ट्वीट कर सीधा सवाल किया कि क्या सुप्रीम कोर्ट भी EVM धांधली में शामिल है? जिसके चलते शत प्रतिशत वीवीपैट पर्चियों के मिलान की इजाजत नहीं दी जा रही है। राज ने दलील दी कि जब चुनावी प्रक्रिया में कई महीनों का वक्त लग रहा है, तो दो-तीन दिन और सही।

कांग्रेसी नेता ने देश के सर्वोच्च न्यायालय पर बेहद गंभीर आक्षेप किया है। उदित राज ने ट्वीट कर कहा, 'सप्रीम कोर्ट क्यों नहीं चाहता की VVPAT की सारी पर्चियों को गिना जाए क्या वो भी धाँधली में शामिल है।चुनावी प्रक्रिया में जब लगभग तीन महीने से सारे सरकारी काम मंद पड़ा हुआ है तो गिनती में दो- तीन दिन लग जाए तो क्या फ़र्क़ पड़ता है।'

यह भी पढ़ें:

उदित राज कांग्रेस में हुए शामिल, कहा- दलित विरोधी है भाजपा

इससे पहले भी उदित राज ने ट्वीट कर चुनाव आयोग पर हमला किया था। उन्होंने ट्वीट किया था, 'भाजपा को जहां-जहां EVM बदलनी थी बदल ली होगी इसीलिए तो चुनाव सात चरणों मे कराया गया। और आप की कोई नहीं सुनेगा चिल्लाते रहिए, लिखने से कुछ नहीं होगा, रोड पर आना पड़ेगा। अगर देश को इन अंग्रेजो के गुलामों से बचाना है तो आन्दोलन करना पड़ेगा साहब चुनाव आयोग बिक चुका है।'

उदित राज की छवि बड़बोले नेताओं में शुमार होती है। हालांकि विवादित बयान देने में उन्होंने सबको पीछे छोड़ते हुए देश की संवैधानिक संस्थाओं पर भी कीचड़ उछालने से गुरेज नहीं किया।

उदित राज के बयानों की बीजेपी खेमे में तीखी आलोचना हो रही है। बीजेपी इसे विपक्ष की हताशा बता रही है। बता दें एक्जिट पोल के ज्यादातर नतीजे बता रहे हैं कि इस बार फिर एनडीए को बहुमत हासिल होगा। साथ ही नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर केंद्र में सरकार बनेगी। कांग्रेस सहित विभिन्न विपक्षी पार्टियां एक्जिट पोल को खारिज कर रही है।