पटना : एग्जिट पोल के नतीजे आने के बाद बौखलाए विपक्ष ने अब बयानबाजी तेज कर दी है। बिहार में महागठबंधन के सदस्य दल आरएलएसपी के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने नतीजों में गड़बड़ी की कोशिश होने पर खून की नदियां बहाने की धमकी दी है।

पटना में हुई महागठबंधन की बैठक में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि नतीजे इधर-उधर करने की कोशिश हुई तो हथियार उठा लेंगे और खून बहा देंगे। बता दें बिहार में एग्जिट पोल के नतीजे पूरी तरह से एनडीए की तरफ हैं।

कई एग्जिट पोल के मुताबिक, बिहार में भाजपा नीत राजग को इस बार 34 सीटें मिल सकती हैं, जबकि विपक्षी महागठबंधन को मात्र छह सीटों से संतोष करना पड़ सकता है।

एक्जिट पोल को राजग नेताओं ने हकीकत के करीब बताया है, जबकि महागठबंधन के नेता इसे हकीकत के बहुत दूर बता रहे हैं। भाजपा के विधानपार्षद और मीडिया टीम के उपप्रभारी संजय मयूख ने कहा कि राजग एक्जिट पोल में बताई गई सीटों से भी अधिक सीटें लाएगी। उन्होंने कहा कि बिहार में ही नहीं पूरे भारत में राजग के पक्ष में मतदान हुआ है।

जद (यू) के प्रवक्ता नीरज कुमार भी एक्जिट पोल को हकीकत के करीब बताते हैं। "राजग के नेता विकास को लेकर मतदाताओं के पास पहुंचे थे, जिसे मतदाताओं ने स्वीकार किया है। लेकिन हमें चुनाव परिणाम 23 मई तक इंतजार करना चाहिए।"

यह भी पढ़ें :

ये बोलते हैं तारे और सितारे, बदल सकती है राहुल-मोदी की किस्मत

Exit Polls ने बिहार में बढ़ाई BJP-JDU की दूरी, उठने लगी परिवर्तन की मांग

राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी इस एक्जिट पोल को नकारते हुए कहते हैं कि यह कुछ लोगों के बीच का सर्वे हो सकता है। उन्होंने दावा किया कि सरकार महागठबंधन की बनेगी और बिहार में महागठबंधन सभी 40 सीटों पर जीत दर्ज करेगा।

उल्लेखनीय है कि बिहार में भाजपा के साथ जहां जद (यू) और लोजपा है, वहीं कांग्रेस के साथ राजद, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) सहित कई छोटे दल हैं।

लोकसभा चुनाव 2014 में भाजपा को 22 सीटें हासिल हुई थीं, जबकि राजद को चार सीटों पर ही संतोष करना पड़ा था। नीतीश कुमार की पार्टी जद (यू) उस चुनाव में अकेले चुनाव लड़ी थी और मात्र दो सीटें हासिल कर पाई थी। पिछले चुनाव में कांग्रेस दो सीटें जीत पाई थी, जबकि लोजपा छह और रालोसपा को तीन सीटें मिली थीं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकपा) को एक सीट मिली थी।