नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग ने इस बार सोशल मीडिया पर खास नजर बनाकर रखी। पेड न्यूज के मामलों के अलावा कई आपत्तिजनक पोस्ट भी तमाम सोशल साइट्स से हटाई गईं।

चुनाव आयोग के मुताबिक, लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान 647 पेड न्यूज के मामले पाए गए, जबकि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों से 909 पोस्ट हटाए गए।

चुनाव आयोग के अनुसार, पेड न्यूज के कुल मामलों में से 57 मामले सातवें चरण के मतदान के दौरान पाए गए, जबकि छठे चरण में एक, पांचवें चरण में आठ, चौथे चरण में 136, तीसरे चरण में 52, दूसरे चरण में 51 और सबसे ज्यादा 342 मामले पहले चरण में पाए गए।

आयोग ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2014 के दौरान पेड न्यूज के 1,297 मामले पाए गए थे, जो सबसे ज्यादा खराब स्थिति थी।

यह भी पढ़ें :

चुनावी मैदान में दांव पर लगी है इन रियासतों की साख

लोकसभा के चुनावी मैदान में हैं कई महिलाएं, इन पर है सबकी नजर

चुनाव आयोग ने पहली बार सोशल मीडिया के लिए ऐच्छिक आचार संहिता लागू की थी और सभी चुनाव क्षेत्रों में विशेषज्ञों और नोडल अधिकारियों को नियुक्त किया गया था। आयोग ने बताया कि फेसबुक से 650 पोस्ट, ट्विटर से 220, शेयरचैट से 31 और गूगल से पांच व व्हाट्सएप से तीन पोस्ट हटाए गए।