खरगोन/भोपाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी और नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए भाजपा नेता साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया में शुक्रवार को कहा कि वह प्रज्ञा को मन से माफ नहीं करेंगे।

मध्य प्रदेश के खरगोन में भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित करने आए मोदी ने एक चैनल से बातचीत में कहा, "महात्मा गांधी जी और गोडसे के बारे में जो भी बातें कही गईं या इस प्रकार के जो भी बयान दिए गए, ये भयंकर खराब हैं, हर प्रकार से घृणा के लायक हैं, आलोचना के लायक हैं। सभ्य समाज में इस तरह की भाषा नहीं चलती। इसलिए ऐसा करने वालों को 100 बार सोचना पड़ेगा।"

उन्होंने आगे कहा, "उन्होंने (प्रज्ञा) माफी मांग ली, यह अलग बात है, लेकिन मैं उन्हें अपने मन से माफ नहीं कर सकता, मन से माफ नहीं कर सकता।"

ज्ञात हो कि प्रज्ञा ने गुरुवार को आगर-मालवा में एक रोडशो के दौरान संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा था, "नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे। आतंकवादी कहने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें, अबकी चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।"

इस बयान पर सियासी भूचाल आने पर शाम होते-होते साध्वी प्रज्ञा ने न केवल बयान को वापस ले लिया, बल्कि सभी से क्षमा भी मांग ली थी।

ये भी पढ़ें: 5 साल में पीएम मोदी की पहली प्रेस कान्फ्रेंस, फिर से किया सरकार बनाने का दावा