दमदम : पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रहस्पतिवार को ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि इस दीदी यह सुन लें कि पश्चिम बंगाल आपके और आपके भतीजे के घर की जागीर नहीं है। पीएम ने भाषण में यह भी कहा कि 23 मई को केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने के बाद बंगाल में घुसपैठ करके आने वालों का हिसाब होगा और दोषियों पर कार्रवाई होगी।

दमदम की रैली में पीएम ने ममता पर निशाना साधते हुए कहा, 'दीदी को लगता था कि वह सुप्रीम पावर हैं, लेकिन बंगाल के लोगों ने बताया कि सुप्रीम सिर्फ जनता है। बांग्ला मानुष की रग-रग में डेमॉक्रेसी है और इस बार आपका मुकाबला बीजेपी से नहीं 21वीं सदी के बंगाली युवाओं से हो रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि विपक्षी पार्टियां अब जिस तरह के बयान दे रही हैं, वह दर्शाता है कि वे लोकसभा चुनाव हार चुकी हैं। कांग्रेस तो यहां तक कह रही है कि वे प्राधनमंत्री पद के लिए दावेदार नहीं हैं दीदी आज चुनाव आयोग और केंद्रीय बलों को भला-बुरा कह रही हैं।

अगर चुनाव आयोग और केंद्रीय बलों ने स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव नहीं कराया होता तो दीदी कभी मुख्यमंत्री नहीं बनतीं।

मोदी को गाली देने से आपको कुछ हासिल नहीं होगा।' पीएम ने भाषण में कहा, 'दीदी और टीएमसी के नेताओं का अहंकार इतना बढ़ गया है कि उन्होंने देश की रक्षा में जुटे सपूतों को भी नहीं छोड़ा। इनके नेता सरेआम धमकी देते हैं कि सुरक्षाकर्मियों को भगाओ और उनको मारो, यह तरीका कश्मीर में पत्थरबाज अपनाते हैं।

इस महान लोकतंत्र में सबको सपने देखने की आजादी है। आपको भी पीएम पद का सपना देखने की आजादी है, लेकिन हमारी सेना को गाली देने से और उनके खिलाफ गुंडो का उपयोग करने से आपकी अपनी विश्वसनीयता पर सवाल उठ चुके हैं।'

दीदी को उत्तर प्रदेश, बिहार से आने वाले लोगों से समस्या है लेकिन वह घुसपैठियों का स्वागत करती हैं। बंगाल दीदी और उनके भतीजे की निजी जागीर नहीं है।

इसे भी पढ़ें :

पीएम मोदी का ऐलान, BJP फिर उसी जगह बनाएगी ईश्वर चंद्र विद्यासागर की भव्य मूर्ति

दीदी के शासन में एक व्यक्ति को मजाक करने के लिए जेल भेज दिया जाता है लेकिन घुसपैठियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती