कोलकाता : बंगाल के पुनर्जागरण के नायक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने को लेकर सियासी रोटियां सेंकी जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईश्‍वरचंद्र विद्यासागर को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी पर तीखा निशाना साधते हुए कहा कि टीएमसी के गुंडों ने दादागिरी की और महान समाज सुधारक ईश्‍वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ दिया है और साथ ही पीएम मोदी ने ऐलान किया कि बीजेपी सरकार उसी जगह पर पंचधातु की एक भव्‍य मूर्ति बनवाएगी।

लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मऊ में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने यो वादा किया। वहीं दूसरी तरफ घटना के तत्काल बाद ममता बनर्जी ने अपना ट्विटर डीपी बदल कर विद्यासागर के तस्वीर वाली डीपी लगा ली।

ममता बनर्जी की देखादेखी टीएमसी के बाकी नेताओं ने भी अपनी डीपी बदल ली है। जिस तरह से पश्चिम बंगाल में स्थितियां बन रही है, उससे चुनाव आयोग सतर्क है। 19 मई को आखिरी चरण में उम्मीद की जा रही है कि पश्चिम बंगाल में इस बार आयोग की तरफ से पुख्ता तैयारी की जाएगी।

इसे भी पढ़ें :

दीदी-मोदी के बीच जुबानी जंग जारी, पीएम ने कहां “पश्चिम बंगाल में गुंडाक्रेसी

पश्चिम बंगाल में जारी चुनावी हिंसा के मद्देनजर राज्य की नौ लोकसभा सीटों पर आगामी 19 मई को होने वाले मतदान के लिये निर्धारित अवधि से एक दिन पहले ही प्रचार अभियान प्रतिबंधित हो जायेगा।

चुनाव आयोग ने बुधवार को इस आशय का आदेश जारी करते हुये कहा कि पश्चिम बंगाल में 16 मई को रात दस बजे से हर प्रकार का प्रचार अभियान प्रतिबंधित हो जायेगा।

उप चुनाव आयुक्त चंद्रभूषण कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश के इतिहास में संभवत: यह पहला मौका है जब आयोग को चुनावी हिंसा के मद्देनजर किसी चुनाव में निर्धारित अवधि से पहले चुनाव प्रचार प्रतिबंधित करना पड़ा हो।