बलिया : लोकसभा चुनाव के पांच चरणों का मतदान संपन्न हो गया है। अंतिम दो चरणों के लिए सभी राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक रखी है। 12 मई को छठे चरण के चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के लिए अच्छी खबर है।

छठे व सातवें चरण के चुनाव में फूलन सेना ने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन प्रत्याशी को समर्थन देने का ऐलान किया है। फूलन सेना के प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र निषाद ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की।

उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ने उत्तर प्रदेश के निषाद समाज को ठगा है। इसीलिये निषाद समाज ने लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए यह निर्णय लिया है। उत्तर प्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी भी इस मौके पर मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें :

“अखिलेश, मायावती जिसे चाहेंगे, वही बनेगा अगला प्रधानमंत्री”

निरहुआ ने बीच चुनाव दिया बड़ा बयान, इस शर्त पर करूंगा अखिलेश यादव का समर्थन

उन्होंने बताया कि फूलन देवी के हत्यारे शेर सिंह राणा को हिन्दू ह्दय सम्राट बताया गया और हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद उत्तर प्रदेश सरकार निषाद समाज को एससी/एसटी का प्रमाण पत्र नहीं दे रही है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि निषाद समाज उत्तर प्रदेश से भाजपा का सफाया करने के लिए संकल्पित है। इस अवसर पर नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि फूलन सेना का उत्तर प्रदेश के बीस जिलों मे व्यापक प्रभाव है। उन्होंने कहा कि छठे व सातवें चरण के चुनाव में गठबंधन के प्रत्याशियों को इससे बहुत लाभ पहुंचेगा।