लखनऊ : लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश में भाजपा को तगड़ा सबक सिखाने के लिए बसपा से गठबंधन करने वाले अखिलेश यादव ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस ने हर लोकसभा क्षेत्र में अपना सबसे मजबूत प्रत्याशी खड़ा किया है। इससे लगता है कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश में फिर से अपनी पार्टी को खड़ा करने के लिए जोरदार प्रयास कर रही है।

इतना ही नहीं सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि, "कांग्रेस बीजेपी को फायदा पहुंचाना चाहती है। बीजेपी ने विपक्षी दल के नेताओं के खिलाफ ED, CBI और अन्य एजेंसियों का दुरुपयोग करना कांग्रेस से ही सीखा है।"

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रियंका गांधी की कांग्रेस के कई जगह भाजपा का वोट काटने के लिए कमजोर प्रत्याशी खड़ा करने की बात को सिरे से खारिज किया है। अखिलेश ने कहा कि प्रियंका गांधी कांग्रेस के प्रत्याशियों को कमजोर बताकर उनका मनोबल गिराने की बात कर रही हैं।

सपा मुखिया ने कहा कि कांग्रेस ने सभी सीट से अपने सबसे मजबूत प्रत्याशी उतारा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तो अमेठी से हैं जबकि उनकी मां सोनिया गांधी रायबरेली से मैदान में हैं। इनके साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल कानपुर से, जितिन प्रसाद धौरहरा से, आरपीएन सिंह कुशीनगर से, जफर अली नकवी लखीमपुर खीरी से तथा डॉ. संजय सिंह सुल्तानपुर से मैदान में हैं। यह सभी कद्दावर नेता हैं, अब अगर प्रियंका गांधी इनको कमजोर नेता कह रही हैं तो यह उनकी अनुभवहीनता ही है।

आपको बता दें कि प्रियंका गांधी ने बुधवार को रायबरेली में कहा था कि उनकी पार्टी ने बीजेपी के वोट काटने के उद्देश्य से कुछ कमजोर उम्मीदवार खड़े किए हैं। प्रियंका ने कहा था, 'जहां हमारे कैंडिडेट मजबूत हैं, कांग्रेस उन सीटों पर जीतेगी। जहां हमारे उम्मीदवार थोड़ा कमजोर हैं, वहां वे बीजेपी का वोट काटेंगे।' प्रियंका ने कहा था कि उनका मकसद बीजेपी को हराना है और इस चुनाव में बीजेपी की बुरी हार होगी।

अखिलेश यादव से पूछा गया कि गठबंधन को कांग्रेस की 'बी' टीम बताया जा रहा है तो उन्होंने कहा कि भाजपा व कांग्रेस ही एक-दूसरे की ए व बी टीम हैं। दोनों ही सबसे पुराने दल हैं तो यह किसी नए को उभरते देखना ही नहीं चाहते हैं। इन दोनों दलों में कोई फर्क नहीं है। लगातार दस साल तक राज करने वाली कांग्रेस अब दस साल तक भाजपा को सत्ता में देखना चाहती है।

इसे भी पढ़ें :

...जब नेताजी को महंगी पड़ी गदहे की सवारी, प्रत्याशी पर FIR दर्ज

“चौकीदार ने देश को पिलाई खराब चाय”: अखिलेश यादव

कांग्रेस ने ही भाजपा को सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग की शिक्षा दी है। उन्होंने कहा कि हमारे परिवार पर आय से अधिक की संपत्ति का मामला दर्ज करने वाला शख्स तो लखनऊ में कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद कृष्णम् के नामांकन में मौजूद था।

अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद ऐसा गठबंधन है तो लोगों से जुड़ा है। जमीनी स्तर पर काम करने के बाद लोगों को अपने से मजबूती से जोडऩे में सफल रहे हैं। गठबंधन ने भाजपा की खराब नीतियों का सड़क पर उतरकर लगातार विरोध किया जबकि कांग्रेस तो कहीं दिखी ही नहीं।