लखनऊ : उत्तर प्रदेश के रामपुर लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र से सपा-बसपा गठबंधन के संयुक्त प्रत्याशी आजम खान के एक तथाकथित विवादित बयान को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

रामपुर के जिलाधिकारी आजेन्य कुमार सिंह ने सोमवार को से कहा, '' आजम खान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 509 (किसी स्त्री की मर्यादा का अनादर करने के आशय से कोई अश्लीलशब्द कहना या हावभाव प्रकट करना) और कुछ अन्य धाराओं में मामला दर्ज कराया गया है।''

आजम के इस विवादित बयान को उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सपा की घटिया सोच बताया है जबकि भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा ने कहा कि आजम खान ने लक्ष्मणरेखा पार कर ली है और अब वह (आजम) उनके भाई नहीं है। आरोप है कि सपा नेता और राज्य के पूर्व मंत्री खान ने रविवार को अपने खिलाफ भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रही अभिनेत्री और पूर्व सांसद जयाप्रदा के खिलाफ वह ‘अमर्यादित' बयान दिया।

सोसल मीडिया पर वायरल सामग्री के अनुसार खान ने अपनी चुनाव रैली में कहा था, '' रामपुर वालों, उत्तर प्रदेश वालों, हिन्दुस्तान वालों, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गये। मैं 17 दिनों में पहचान गया कि इनके नीचे का जो अंडरवियर है वह खाकी रंग का है।''

खान के भाषण का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया । हालांकि आजम ने एक दिन बाद सफाई देते हुये कहा कि उन्होंने अपने भाषण में किसी का नाम नहीं लिया, और अगर किसी का नाम लिया हो तो वह चुनाव नहीं लड़ेगें।

उन्होंने कहा कि '' मैने किसी का नाम नहीं लिया, मैने किसी की नाखूबी बताई, न बुराई बताई।'' उन्होंने कहा कि '' अगर कोई साहब साबित कर दे कि मैने किसी का नाम लिया, नाम लेकर किसी की तौहीन की तो मैं चुनाव से हट जाऊंगा।''

इसे भी पढ़ें :

जयाप्रदा का ऐलान, आजम को हराकर रहूंगी, नहीं छोड़ूंगी रामपुर

उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आजम खान के विवादित बयान की निंदा की है। उन्होंने कहा कि ''आजम का यह बयान समाजवादी पार्टी की घटिया सोच को दर्शाता है ।''

भाजपा प्रत्याशी जयाप्रदा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ''लक्ष्मण रेखा क्रास कर गये, अब मेरे लिये कोई (आजम भाई) नहीं है। भाई मान के सब कुछ सहने का काम किया था अब बर्दाश्त खत्म हो गया।

जनता जो है वह बतायेगी, लोग महिलाओं को पूजते है, यह आदमी क्या कर रहा है? इसको चुनाव लड़ने का अधिकार है। मैं चुनाव आयोग से अपील करती हूं कि इनको चुनाव लड़ने की योग्यता खत्म हो जाए।'' उन्होंने कहा कि''मैं अखिलेश यादव को बोलती हूं कि ऐसे नेता को आप चुनाव लड़ा रहे हो, लानत है, उसे निष्कासित करना चाहिये।''