केंदुकोना : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भ्रष्टाचार में संलिप्त रहने के लिए बृहस्पतिवार को कांग्रेस की आलोचना की और कहा कि विपक्षी पार्टी का ‘‘तुगलक रोड चुनाव घोटाला'' सामने आया है।आज पीएम मोदी असम के दौरे पर हैं।

उन्होंने यहां एक रैली में कहा कि नये घोटाले में गरीब बच्चों और गर्भवती महिलाओं के पोषण के लिए दिए जाने वाले करोड़ों रुपये जब्त किए गए हैं जबकि उसके खिलाफ भ्रष्टाचार के पुराने मामले अब भी चल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ‘‘नामदार परिवार'' भ्रष्टाचार में संलिप्त है और इसे जीवन का जरिया बना चुका है जिसके लिए इसके सदस्य अब भी जमानत पर हैं लेकिन वे कहते हैं ‘‘चौकीदार चोर है।''

उन्होंने किसी का नाम लिए बिना कहा, ‘‘दिल्ली में तुगलक रोड है और वहां एक बंगले में बड़े नेता रहते हैं। पिछले कुछ दिनों के दौरान कई करोड़ रुपये का खेल हुआ। इस बंगले से जुड़े लोगों से बोरियों में भरे रुपये बरामद किए गए।''

इसे भी पढ़ें :

बॉलीवुड में पीएम मोदी की लहर, 900 से ज्यादा कलाकारों ने की बीजेपी को वोट देने की अपील

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा, ‘‘यह तुगलक रोड चुनाव घोटाला है और चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस इसमें संलिप्त है... अगर वे लूटेंगे नहीं तो चुनाव कैसे लड़ेंगे?''

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राष्ट्रीय राजधानी के तुगलक रोड पर एक बंगला खरीदा है और उनके पूर्व निजी सचिव प्रवीण कक्कड़ का घर इंदौर तथा पूर्व सलाहकार राजेन्द्र कुमार मिगलानी का घर दिल्ली में है जहां सात अप्रैल को आयकर अधिकारियों ने कथित हवाला मामले में छापेमारी की थी।

मोदी ने कहा, ‘‘इस तरह के लोगों को वोट देना पाप है।'' उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी शिविरों पर हमले का सबूत मांगकर कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से समझौता किया है।

वोट बैंक की राजनीति में कांग्रेस के संलिप्त रहने के आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा कि अगर वे चाहते तो 1971 के भारत-पाक युद्ध के बाद ही असम और जम्मू-कश्मीर की समस्याओं का समाधान कर देते।

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन उन्होंने निहित स्वार्थों के लिए मुद्दों को जानबूझकर जिंदा रखा।'' उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने घुसपैठ होने दी ताकि वोट बैंक बना रहे। उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन यह चौकीदार सुनिश्चित करेगा कि असम और पूर्वोत्तर के लोगों के हितों की रक्षा के लिए घुसपैठ रूके।''