नई दिल्लीः आज लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के लिए मतदान जारी है। जहां एक तरफ मतदान जारी है तो वहीं दूसरी ओर चुनाव और उसके परिणाम को लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी जारी है। बता दें कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार के बयान से राजनीतिक पारा बढ़ गया है।

शरद पवार के इस बयान से कांग्रेस और राहुल गांधी के मश्किले बढ़ सकती है। दरअसल शरद पवार ने अपने एक बयान में कहा कि उनका पहला लक्ष्य बीजेपी को सत्ता से बाहर करना है। लेकिन इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस और राहुल गांधी को लेकर भी चुनाव के मद्देनजर भविष्यवाणी की है।

शरद पवार ने कहा, राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में नहीं हैं। साथ ही उन्होंने संकेत दिए कि इस बार राहुल गांधी प्रधानमंत्री का चेहरा नहीं होंगे। उन्होंने कहा, जिस तरह मनमोहन सिंह जैसे चेहरे को हर किसी ने स्वीकार किया था, उसी तरह इस बार भी कोई ऐसा चेहरा ही प्रधानमंत्री होगा।

इसे भी पढ़ेंः

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल के आधे सदस्य  नही हैं  जनता द्वारा सीधे निर्वाचित

शरद पवार ने कहा, कि प्रधानमंत्री कांग्रेस या उसकी साथी पार्टी से हो सकता है। शरद पवार ने महागठबंधन को लेकर भी बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा, महागठबंधन जैसा कोई शब्द नहीं है, ये सिर्फ बीजेपी की तरफ से उछाला गया है ताकि वोटरों को गुमराह किया जा सके।