नई दिल्लीः आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की इलाहाबाद लोकसभा सीट पर मुकाबला दिलचस्प हो गया है। दरअसर आज आम आदमी पार्टी ने राजनीतिक दांव खेलते हुए किन्नर अखाड़ा की भवानी मां को इलाहाबाद लोकसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है। आपको बता दें कि इस बात की जानकारी स्वयं आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने ट्वीट कर दी।

किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर भवानी मां को आम आदमी पार्टी में शामिल करते हुए संजय सिंह ने कहा, 'जिस किन्नर समाज की हर राजनीतिक पार्टी ने उपेक्षा की है, हम उनके साथ हैं। संजय सिंह ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि, मोदी सरकार तो एक बिल भी लाई थी, जिसमें वो किन्नरों को भिखारी की केटेगरी में रखना चाहती थी। अब किन्नर समाज की भवानी मां इलाहाबाद लोकसभा सीट से लड़ाई जीतेंगे।

वहीं, दूसरी तरफ आम आदमी पार्टी में शामिल होने के बाद किन्‍नर अखाड़े की महामंडलेश्‍वर मां भवानी ने कहा, 'मैं किसी को हराने नहीं आई हूं। मैं केवल जीतने आई हूं। हमारा मुद्दा बेरोजगारी, नोटबंदी और जो वादे किए गए थे, वो सब हैं।

गौरतलब है कि इलाहाबाद सीट पर छठे चरण में 12 मई को वोट डाले जाएंगे। इसके लिए 16 अप्रैल को अधिसूचना जारी की जाएगी।

इलाहाबाद सीट पर ये दिग्गज भी अजमा चुके किस्मत

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की इलाहाबाद सीट हाई प्रोफाइल सीट मानी जाती है। इस सीट से पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, वीपी सिंह, मुरली मनोहर जोशी, जनेश्वर मिश्रा जैसे दिग्गजों के साथ ही अभिनेता अमिताभ बच्चन भी चुनाव जीतकर सांसद रह चुके हैं।

इसे भी पढ़ेंः

केंद्र की योजनाओं पर TRS ने चिपकाया अपना लेबल : मोदी

इलाहाबाद सीट पर भाजपा की प्रतिष्ठा दांव पर

आपको बता दें कि इस बार चुनाव में इस सीट पर बीजेपी की प्रतिष्ठा दांव पर होगी। फिलहाल इलाहाबाद सीट से श्यामाचरण गुप्त सांसद हैं जिन्होंने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की टिकट से जीत हासिल की थी। लेकिन चुनाव से ठीक पहले उन्होंने बीजेपी का दामन छोड़कर समाजवादी पार्टी की साइकिल पर सवार हो गए हैं।