मेरठ: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को यहां कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और कहा कि जो सत्तर साल में गरीबों के खाते तक नहीं खुलवा पाए, वे खाते में पैसे कहां से डालेंगे।

उन्होंने लोकसभा चुनाव के लिए अपने प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए कहा, "2019 का चुनाव प्रचार मेरठ से शुरू करने की एक वजह है कि 1857 में स्वतंत्रता आंदोलन में मेरठ से ही आजादी का बिगुल फूंका गया था।"

यह भी पढ़ें:

‘पीएम नरेंद्र मोदी’ पर भड़के जावेद अख्तर, लगाया ये आरोप

उन्होंने कहा, "जो लोग इस चौकीदार को चुनौती देते थे, वे अब रो रहे हैं कि मोदी ने पाकिस्तान को घर में घुसकर क्यों मारा। मोदी ने यह क्यों किया वह क्यों किया। विरोधियों में पाकिस्तान में मशहूर होने की होड़ लगी है। मैं देश की जनता से पूछना चाहता हूं कि आपको सबूत चाहिए या फिर सपूत।"

मोदी ने कहा, "मैं चौकीदार हूं लिहाजा अपना हिसाब भी दूंगा और दूसरों से हिसाब भी लूंगा। मैं पूछूंगा उनसे कि अपने कार्यकाल में आप नाकाम क्यों रहे। आज फैसले लेने वाली सरकार है तो दूसरी ओर फैसले टालने वालों का इतिहास है। एक ओर दमदार चौकीदार है तो उस ओर दागदारों की भरमार है।"

प्रधानमंत्री ने कहा, "इस देश ने नारे देने वाली सरकारें बहुत देखीं हैं लेकिन देश पहली बार एक निर्णायक सरकार भी देख रहा है, जो अपने संकल्प को सिद्ध करना जानती है। जमीन हो, आसमान हो या फिर अंतरिक्ष, सर्जिकल स्ट्राइक का साहस आपके इसी चौकीदार की सरकार ने दिखाया है।"

मोदी ने कहा, "मेरठ में ही कुछ महामिलावटी लोगों ने आतंकियों की मदद की। आप सभी बेहतर जानते हैं कि उस दौर में मेरठ में बेटियों की इज्जत सुरक्षित नहीं थी। यहां पर अपराधियों का बोलबाला था। जब योगी आदित्यनाथ जी की सरकार आई तब जाकर सारी अराजकता खत्म हुई। अब अराजकों के लिए फांसी तक का प्रावधान किया गया है। अगर इन महाममिलावटी लोगों को दोबारा मौका मिला तो देश फिर पुराने दिनों में, रसातल में चला जाएगा।"