नई दिल्ली: मथुरा लोकसभा सीट से हेमा मालिनी की सीट पक्की हो गई है। अब कांग्रेस की ओर से हवा उड़ रही है कि हेमा के खिलाफ पार्टी सपना चौधरी को उतार सकती है। बताया जाता है कि सपना चौधरी भी सियासत में उतरने के लिए उतावली हैं। हालांकि वो हेमामालिनी जैसी दिग्गज राजनेता और कलाकार से भिड़ने से कतरा रही हैं।

इलाके में सपना चौधरी की धमक भी कमजोर नहीं है। धमाकेदार ठुमकों के दम पर सपना लाखों दिलों पर राज करती हैं। राजनीति में इंट्री के साथ सपना हार का रिस्क नहीं लेना चाहती है। लिहाजा अभी इस बात पर चर्चा चल रही है कि सपना चौधरी का हेमा से टक्कर लेना कितना मुफीद होगा।

यह भी पढ़ें:

सपना चौधरी का यह सपना रह गया अधूरा, नहीं बनना चाहती थीं डांसर

मथुरा से सपना को उतारने की कांग्रेस की योजना के पीछे कई कारण हैं। सपना चौधरी जाट समुदाय से आती हैं, वहीं मथुरा में जाटों की बाहुल्यता है। सपना चौधरी मथुरा के जाट वोटरों को प्रभावित कर सकती हैं। वहीं अपनी उम्मीदवारी को लेकर सपना चौधरी ने न ही इनकार किया है और न ही इकरार।

इससे पहले सपना चौधरी ने कई इंटरव्यू में कांग्रेस पार्टी के प्रति झुकाव का इशारा किया था। बीते साल सपना ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात भी की थी। सपना ने ये भी माना था कि वो कांग्रेस पार्टी के लिए प्रचार करेंगी।

हालांकि हेमामालिनी के खिलाफ सपना चौधरी की उम्मीदवारी पर आप नेता कुमार विश्वास ने चुटकी ली है। कुमार विश्वास ने ट्वीट कर लिखा, "भारतीय लोकतंत्र का स्वर्णिम युग हम सब मतदाताओं को मुबारक होता रहे।"