गुवाहाटीः असम में भाजपा को एक करारा झटका देते हुए तेजपुर से मौजूदा सांसद राम प्रसाद शर्मा ने शनिवार को पार्टी छोड़ने की घोषणा कर आरोप लगाया कि ‘‘पार्टी में नए घुसपैठियों'' के कारण पुराने कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है।

शर्मा ने कहा कि आरएसएस और विहिप के लिए 15 वर्ष और भाजपा के लिए 29 वर्ष काम करने के बाद वह पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे रहे हैं। उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट में कहा, ‘‘ मैंने आज भाजपा छोड़ दी। मैं असम के उन पुराने भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए दुख महसूस करता हूं जिन्हें नए घुसपैठियों के कारण नजरअंदाज किया जा रहा है।''

तेजपुर सांसद राम प्रसाद शर्मा फेसबुक पोस्ट
तेजपुर सांसद राम प्रसाद शर्मा फेसबुक पोस्ट

तेजपुर लोकसभा सीट के लिए पार्टी के संभावित उम्मीदवार के पैनल में शर्मा का नाम शामिल नहीं था। इसमें केवल असम के मंत्री और एनईडीए के संयोजक हिमंत बिस्वा शर्मा का नाम था।

इसे भी पढ़ेंः

Lok Sabha Elections 2019: जेडीएस महासचिव दानिश अली का पार्टी से इस्तीफा, बसपा में हुए शामिल

असम की 14 लोकसभा सीटों के उम्मीदवारों की सूची दिल्ली भेजी जा चुकी है और इसकी शनिवार को घोषणा किए जाने की संभावना है। शर्मा की बेटी को एपीएससी नौकरी घोटाले के सिलसिले में गिरफ्तार किए जाने के बाद से ही उनकी उम्मीदवारी दांव पर थी।