वाराणसी : कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी को बेहतर बनाने के लिए नेताओं व कार्यकर्ताओं से कई अलग अलग तरह के प्रयोग करने को कहा है, ताकि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के अंदर जोश भरा जा सके। इसके लिए खुद प्रियंका गांधी नए नए तरीके अपना रही हैं और कांग्रेस में नई जान फूंकने की कोशिश कर रही है। इसी के तहत अब गंगा नदी के किनारे किनारे प्रयागराज से वाराणसी तक की यात्रा करके पूर्वांचल में कांग्रेस नेताओं के बीच जाएंगी।

इसके बारे में कहा जा रहा है कि भले ही प्रयागराज के कुंभ मेले में कुछ व्यक्तिगत व राजनीतिक कारणों से आगमन न हो सका तो प्रियंका गांधी ने गंगा नदी के जरिए मोटरबोट से पूर्वांचल भ्रमण की मंशा जताई है। सॉफ्ट हिंदुत्व कार्ड खेलने के साथ साथ गंगा की सफाई के मामले को जनता के बीच ले जाने का यह एक तरीका माना जा रहा है। कांग्रेस की ओर से की जा रही इस पहल से माना जा रहा है कि इससे कुछ हिन्दू और परंपरागत कांग्रेसी वोटों को एकबार फिर पार्टी से जोड़ पाएंगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)

प्रियंका गांधी ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर यूपी में नदी तीरे की जनता से रूबरू होने के लिए गंगा यात्रा पर निकला चाह रही हैं और इसके लिए चुनाव आयोग से अनुमति भी मांगी है। बताया जा रहा है कि प्रियंका गांधी सूबे के दो बड़े शहरों धार्मिक शहरों प्रयागराज और बनारस के बीच मोटर बोट से सफर करना चाहतीं हैं। वह 18 से 20 मार्च तक इलाहाबाद से वाराणसी तक जाएंगी। गंगा में अपनी मोटर बोट से जल यात्रा के दौरान बीच-बीच में कई इलाकों में रुकेंगी और लोगों से रूबरू होंगी।

इसके लिए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रशासन डॉ. आरपी त्रिपाठी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तर प्रदेश को पत्र लिखकर अनुमति मांगी है। इस पत्र में लिखा है कि प्रियंका गांधी 18, 19 और 20 मार्च को इलाहाबाद से बनारस तक जल मार्ग से मोटर बोट से दौरा करेंगी। इसके साथ साथ वह जगह-जगह पर जनता से मिलेंगी। कृपया अनुमति देने का कष्ट करें, जिससे चुनाव आयोग के नियमों का पालन हो सके।

यह भी पढ़ें :

क्या आपने पढ़ा प्रियंका गांधी का पहला ट्वीट, जानिए किस बात का किया जिक्र

गुजरात में पहली ही रैली में मोदी पर गरजी प्रियंका गांधी, बताया- क्या होती है देशभक्ति

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)

आपको बता दें कि इसके पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मेरठ में भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद से मुलाकात के बाद राजनीति के गलियारे में हलचल पैदा कर दी थी।