लखनऊ : समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने गुरुवार को मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने एक साझा प्रेस कान्फ्रेंस को भी संबोधित किया। हार्दिक पटेल ने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन बहुत मजबूत है और उत्तर प्रदेश में भाजपा को हरा सकता है। हार्दिक ने पुलवामा हमले को लेकर भी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पुलवामा में जो जवान शहीद हुए, उनमें 12 यूपी के रहने वाले थे। हार्दिक ने कहा कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के रास्ते को कई बार चेक किया जाता है, जवानों के रास्ते को अलर्ट के बाद भी क्यों नहीं चेक किया गया। इसके अलावा उन्होंने अर्धसैनिक बल कर्मी को पूर्ण सैनिक का दर्जा देने की मांग की।

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव जी की प्रेस वार्ता- 21/02/2019

Posted by Samajwadi Party on Wednesday, February 20, 2019

गुजरात मॉडल को बताया विफल

उन्होंने गुजरात मॉडल को विफल बताते हुए हार्दिक ने कहा कि गुजरात के 20 जिलों में सिंचाई सुविधाएं नहीं है और किसान आत्महत्या कर रहे हैं

अखिलेश ने भी उठाए सवाल

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ सपा मुख्यालय पर संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में अखिलेश ने सवाल उठाया कि सीआरपीएफ कर्मियों को सड़क के रास्ते क्यों भेजा गया। उन्होंने कहा कि सरकार को इस बात का जवाब देना चाहिए कि पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों को लेकर जा रही बस से एक वाहन कैसे टकराया। अखिलेश ने कहा कि जब सुरक्षाकर्मी बस में जा रहे थे तो बस से एक वाहन कैसे टकरा गया । सरकार को जवाब देना चाहिए । भाजपा सरकार हर किसी को राष्ट्रवाद का प्रमाणपत्र देती है । अब उसे जवाब देना चाहिए ।

अखिलेश ने भाजपा पर कसा तंज

अखिलेश ने तंज किया कि जब शहीदों के परिवार वाले शोकग्रस्त हैं, तब भाजपा शिलान्यास और लोकार्पण में व्यस्त है । आगामी लोकसभा चुनाव के बारे में उन्होंने कहा कि युवा उन ताकतों को खत्म कर देगा, जिन्होंने देश की संस्थाओं और संविधान को कमजोर किया है । हार्दिक ने कहा कि वह आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे । वह सिर्फ अखिलेश से मिलने और उनके साथ चाय पीने आये थे । सपा को समर्थन के बारे में उन्होंने कहा कि वह उन सबका समर्थन करते हैं जो हिटलरशाही के खिलाफ हैं और जो लोकतंत्र और संविधान को कमजोर करने वालों के खिलाफ हैं ।