चेन्नई: द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) व कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि उन्होंने तमिलनाडु व पुडुचेरी में लोकसभा चुनाव संयुक्त रूप से लड़ने के लिए एक समझौता को अंतिम रूप दे दिया है। द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन मीडिया को बताया कि कांग्रेस को तमिलनाडु में लोकसभा की नौ सीटें और पुडुचेरी में एक सीट दी गयी है।

द्रमुक सांसद कनिमोझी व तमिलनाडु पीसीसी अध्यक्ष के. एस.अलागिरी ने कहा कि समझौते के विवरण की घोषणा शाम को यहां द्रमुक मुख्यालय पर की जाएगी।

कनिमोझी व के.एस.अलागिरी ने मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अलग-अलग मुलाकात की और बुधवार को चेन्नई लौटे।

कनिमोझी ने कहा कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकुल वासनिक व के.सी.वेणुगोपाल बुधवार को द्रमुक अध्यक्ष एम.के.स्टालिन से मिलेंगे, जिसके बाद विवरण को सार्वजनिक किया जाएगा। यह माना जा रहा है कि कांग्रेस तमिलनाडु में 39 लोकसभा सीटों में से नौ पर व पुडुचेरी की एकमात्र सीट पर चुनाव लड़ेगी।

गौरतलब है कि कल तमिलनाडु में सत्तारूढ़ ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) व पट्टल मक्कल काची (पीएमके) ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए चुनावी गठबंधन पर मुहर लगाई थी। सहमति के तहत पीएमके सात संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में व राज्यसभा की एक सीट पर चुनाव लड़ेगी।

इसे भी पढ़ेंः

लोकसभा चुनाव 2019: तमिलनाडु में AIADMK और भाजपा के बीच हुआ समझौता, भाजपा को मिली 5 सीटें

आपको बता दें कि चुनाव गठबंधन समझौते पर हस्ताक्षर के बाद संवाददाताओं से बातचीत में पन्नीरसेल्वम ने कहा, "2019 के लोकसभा चुनावों के लिए अन्नाद्रमुक की अगुवाई वाले गठबंधन के तहत पीएमके को सात लोकसभा सीटें मिली हैं। पीएमके को एक राज्यसभा सीट भी मिलेगी।"