चेन्नई : सुपरस्टार रजनीकांत ने ऐलान किया है कि वह और उनकी पार्टी इस साल होने वाला लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। रजनीकांत का यह फैसला बेहद चौकाने वाला है क्योंकि कई राजनीतिक दल उनकी लोकप्रियता को देखते हुए उनके साथ मिलकर चुनाव लड़ने की सोच रहे थे।

रजनीकांत ने ऐलान करते हुए स्पष्ट कर दिया हैकि प्रचार के दौरान उनका या उनकी पार्टी का चिह्न इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। रजनीकांत ने चुनाव नजदीक आते ही यह फैसला क्यों लिया इस बारे में अब तक किसी ने स्पष्ट नहीं कहा है।

वैसे समय-समय पर रजनीकांत पर यह आरोप लगता रहा है कि वह भाजपा के करीबी हैं। एक वजह यह भी मानी जा रही है कि भाजपा को नुकसान ना हो इसलिए वह चुनाव से बाहर हो गए हैं।

यह भी पढ़ें :

सुपरस्टार रजनीकांत बोले :  भाजपा ने खो दिया है अपना प्रभाव

रजनीकांत की राजनीतिक पारी से तमिलनाडु के नेताओं की बढ़ी धड़कन, कौन क्या बोला..!

गौरतलब है कि रजनीकांत ने 31 दिसंबर 2017 को पार्टी गठन का ऐलान किया था। उन्होंने किसी दूसरी पार्टी में शामिल ना होकर बल्कि खुद एक नई पार्टी का गठन किया था। इतना ही नहीं रजनीकांत ने राजनीति में आने के ऐलान के 24 घंटे के भीतर ही अपनी पार्टी का लोगो भी जारी कर दिया था।

उन्होंने एक वीडियो जारी भी किया था। एक मिनट 14 सेकेंड के वीडियो में रजनी ने लोगों से तमिलनाडु की राजनीति से गंदगी साफ करने की अपील करते हुए उन्हें वेबसाइट और एप पर रजिस्टर करने को कहा। उन्होंने कहा कि राज्य के लोग अब साफ-सुथरी राजनीति चाहते हैं।