गुवाहाटी : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को गुवाहाटी में दूसरे दिन भी कम से कम दो स्थानों पर नागरिकता (संशोधन) विधेयक के विरोध में काले झंडे दिखाए गए।

राज भवन से हवाई अड्डे जा रहे मोदी को मचखोवा इलाके में असम जातीयतावादी युवा छात्र परिषद (एजेवाईसीपी) के प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे दिखाए। इसके कुछ मिनटों बाद ही छात्रों के एक समूह ने प्रधानमंत्री को उस वक्त काले झंडे दिखाए जब उनका काफिला जालुकबारी इलाके में गुवाहाटी विश्वविद्यालय के पास से गुजर रहा था।

पुलिस ने बताया कि दोनों समूहों के सदस्यों को हिरासत में ले लिया गया है। इससे पहले मोदी के शुक्रवार को गुवाहाटी उतरने के बाद हवाई अड्डे से राज भवन के रास्ते में कम से कम चार स्थानों पर काले झंडे दिखाए गए थे।

जलुकबारी इलाके में गुवाहाटी विश्वविद्यालय के करीब सैकड़ों छात्रों ने मोदी को काले झंडे दिखाए। वहीं ‘कृषक मुक्ति संग्राम समिति' (केएमएसएस) और एजेवाईसीपी ने भी अदाबरी और फैंसी बाजार इलाकों में ऐसा ही किया।

इसे भी पढ़ें :

पीएम मोदी का ममता पर निशाना, कहा- ‘‘मां माटी मानुष’’ के नाम पर बंगाल में हिंसा

‘ऑल असम स्टूडेंट यूनियन' (आसू) के सदस्यों ने भी प्रधानमंत्री को उस काले झंडे दिखाए जब उनका काफिला उजान बाजार में महात्मा गांधी रोड पर आसू मुख्यालय के पास से गुजरा।

गौरतलब है कि आठ जनवरी को लोकसभा में पारित हुआ नागरिकता (संशोधन) विधेयक, बांग्लादेश, पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के गैर-मुस्लिमों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान करता है।

पूर्वोत्तर में कई संगठनों ने इस विधेयक का यह दावा करते हुए विरोध किया है कि वह क्षेत्र के मूलनिवासियों के अधिकारों को कमतर कर देगा।