दिनाजपुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के हेलिकॉप्टर को पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने उतरने की इजाजत नहीं दी है। रैली स्थल के पास हेलिकॉप्टर लैंडिंग की अनुमति न मिलने के बाद अब योगी आदित्यनाथ फोन के जरिए रैली को संबोधित करेंगे। योगी आदित्यनाथ की बंगाल के दिनाजपुर में आज 2 रैलियां होने वाली थीं।

ममता सरकार के इस कदम की आलोचना करते हुए सीएम योगी के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता का असर है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हेलिकॉप्टर लैंडिंग की इजाजत तक नहीं दी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोनों सभाओं को अब फ़ोन से संबोधित करेंगे। सभास्थल के पास हेलिकॉप्टर की लैंडिंग अनुमति न मिलने के कारण उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल नहीं जा सके। योगी आदित्यनाथ को आज दक्षिण दिनाजपुर और उत्तर दिनाजपुर में जनसभा को संबोधित करना था।

इसे भी पढ़ें :

योगी आदित्यनाथ ने कुंभ मेला क्षेत्र का किया दौरा, RSS प्रमुख और साधु- संतो से की मुलाकात

आपको बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है कि बंगाल में किसी बीजेपी नेता की रैली पर विवाद हुआ हो। इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के हेलिकॉप्टर को भी झारग्राम में लैंडिंग की इजाजत नहीं दी गई थी। इसके अलावा मालदा में भी प्रशासन की ओर से उनके हेलिकॉप्टर को उतरने की इजाजत नहीं मिली थी।

बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने कहा कि बालूरघाट में रैली की इजाजत मिल जाएगी। वहां पर एयरपोर्ट है। उस नियमित हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर को लैंड करने की अनुमति देने में हर्ज क्या है? यह पश्चिम बंगाल सरकार का बिल्कुल अलोकतांत्रिक रवैया है।