प्रयागराज : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एकबार फिर गुरुवार को कुंभ मेला क्षेत्र का दौरा किया और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ साथ कई साधु-संतों से मुलाकात की। आज सबेरे मेला क्षेत्र में मुख्यमंत्री ने सबसे पहले झूंसी स्थित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के कार्यालय में पहुंचे और वहां पर मौजूद संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की।

योगी और भागवत के बीच चली लगभग डेढ़ घंटे की मुलाकात में कई अहम मामलों पर चर्चा हुई। संघ प्रमुख से मिलने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीधे पुरी पीठाधीश्वर स्वामी निश्चलानंद सरस्वती से मिलने गए।

उन्होंने पीठाधीश्वर को राम मंदिर पर सरकार के रुख से अवगत कराया और उनकी मंशा भी जानने की कोशिश की। उसके बाद मुख्यमंत्री ने महंत नृत्यगोपाल दास जी से भी भेंट की करके सरकार की पहल से अवगत कराया। अंत में वह जूना अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरि से भी मिले।

इसे भी पढ़ें : हिन्दू धर्म संसद में सबरीमाला पर पास हुआ प्रस्ताव, देशव्यापी आंदोलन बनाने की तैयारी

मेला क्षेत्र में विश्व हिन्दू परिषद की दो दिवसीय की धर्म संसद के दौरान इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि इसमें अयोध्या में राम मंदिर निर्माण, गोसेवा, गंगा समेत अन्य मुद्दों पर विश्व हिन्दू परिषद साधु संतों के साथ मंथन कर रही है।

दो दिवसीय धर्म संसद में शामिल हो रहे पांच हजार लोग

आज से दो दिवसीय की धर्म संसद में योगगुरु बाबा रामदेव, जूनापीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरि, गोविन्द गिरि, स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, चिदानंद मुनि, माता अमृतामयी, जैन सम्प्रदाय के संत कमल मुनि, हंसदेवाचार्य, निम्बार्काचार्य, अखाड़ों के प्रतिनिधि, महामंडलेश्वर समेत पांच हजार लोग शामिल हो रहे हैं।