इन दो योजनाओं से लोगों को लुभाने की कोशिश करेगी मोदी सरकार

डिजाइन फोटो - Sakshi Samachar

नई दिल्ली : एक फरवरी को मोदी सरकार अंतरिम बजट पेश करेगी। इस बार यह अंतरिम बजट रेल मंत्री पीयूष गोयल पेश करेंगे क्योंकि वित्त मंत्री अरुण जेटली अपनी बीमारी की वजह से इन दिनों विदेश में हैं। आगामी लोकसभा चुनाव की वजह से उम्मीद की जा रही है कि सरकार बजट से पहले ही किसानों के लिए कुछ बड़ा ऐलान कर सकती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, बजट में फसल बीमा योजना के लिए केंद्र सरकार फंड बढ़ा सकती है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए एलोकेशन में 20 फीसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है। फसल बीमा के लिए सरकार 15000 करोड़ रुपए दे सकती है। बता दें कि पिछले बजट में सरकार की तरफ से इसके लिए 13 हजार करोड़ रुपए जारी किए गए थे. इतना ही नहीं जानकारी के मुताबिक, पीएम फसल बीमा योजना के मौजूदा ढ़ांचे में भी बदलाव किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें बजट 2019 : NDA सरकार के आखिरी बजट में जानिए किसको क्या होगा फायदा

नीति आयोग ने की सिफारिश

सरकार की योजना है कि जिन किसानों ने कर्ज नहीं लिया है उन किसानों के भी नुकसान की भरपाई हो। इसके अलावा बैंकिंग नेटवर्क से बाहर रहे किसानों को भी बीमा योजना का लाभ मिलेगा। नीति आयोग की तरफ से भी इसमें बदलाव की सिफारिश की गई है।

गोल्ड सेविंग अकाउंट की योजना पर भी सरकार कर रही काम

इसके अलावा नरेंद्र मोदी सरकार अंतरिम बजट में गोल्ड सेविंग अकाउंट लॉन्च करने की योजना पर काम कर रही है। इस योजना के तहत लोग इस खाते में नकद जमा कराएंगे और बैंक उतनी ही कीमत का सोना उस खाते में क्रेडिट कर देंगे। इस बैंक खाते के साथ पासबुक भी मिलेगी, जिसमें सारा ब्योरा दर्ज होगा। साथ ही लोग सोने की सावधि जमा (आरडी) भी कर सकेंगे।

रिपोर्ट में कहा गया हैं कि सरकार गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम में बदलाव कर सकती है। इसके तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को घरों में रखा सोना बैंक में जमा करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी की घोषणा हो सकती है। गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम के तहत बैंक गोल्ड निवेश के बदले ब्याज देते हैं। साथ ही सरकार गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम में प्राइस रिस्क से मुक्ति भी दिला सकती है।

Advertisement
Back to Top