अहमदाबाद: गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला का राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(राकांपा) में शामिल होना तय है। शरद पवार के नेतृत्व वाली पार्टी के गुजरात इकाई ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

क्षत्रिय समाज से आने वाले प्रदेश के 78 वर्षीय कद्दावर नेता ने 2017 में गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस छोड़ दी थी। उन्होंने तब राज्यसभा चुनाव में भाजपा की मदद की थी। गुजरात राकांपा के अध्यक्ष जयंत पटेल उर्फ बोस्की ने कहा, “गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला पार्टी अध्यक्ष शरद पवार और वरिष्ठ नेता प्रफुल्ल पटेल की मौजूदगी में राकांपा में शामिल होंगे।

” उन्होंने कहा, “वाघेला जी एक ऊर्जावान नेता हैं जो राज्य और देश की नब्ज पहचानते हैं। मैं राकांपा में उनका स्वागत करता हूं और राज्य में पार्टी को इससे ताकत मिलेगी।” पार्टी सूत्रों ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री 29 जनवरी को राकांपा में शामिल हो सकते हैं।

ऐसा रहा राजनीतिक सफर

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत आरएसएस और जनसंघ के साथ की थी। जनसंघ में काफी समय बीताने के बाद वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे। वाघेला दो दशक से भी अधिक समय तक कांग्रेस का हिस्सा रहे।

इसे भी पढ़ेेंः

वाजपेयी के बंगले को लेकर दुविधा में पीएम, जानिए अब क्या करेंगे नरेंद्र मोदी

जहां उन्होंने केंद्रीय मंत्री से लेकर केंद्रीय मंत्री, प्रदेश अध्यक्ष, नेता विपक्ष और बतौर गुजरात के मुख्यमंत्री की भूमिका भी निभाई। लेकिन गुजरात में बीते विधानसभा चुनाव में उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाए जाने से नाराज वाघेला ने कांग्रेस से दो दशक का अपना नाता खत्म कर दिया। जिसके बाद उन्होंने जनविकल्प मोर्चे का गठन किया।