नई दिल्ली : जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने प्रियंका गांधी वाड्रा की पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए कांग्रेस महासचिव के तौर पर नियुक्ति को ‘भारतीय राजनीति में बहुप्रतीक्षित पदार्पणों में से एक' बताया है।

वर्षों की अटकलों पर विराम लगाते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा बुधवार को औपचारिक रुप से राजनीति में उतरीं और पार्टी ने उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए महासचिव नियुक्त किया। इस कदम को आम चुनाव से पहले राज्य में पार्टी के पूरी तरह कमर कस लेने का संकेत माना जा रहा है।

किशोर ने ट्वीट किया, ‘‘भारतीय राजनीति में बहुप्रतीक्षित पदार्पणों में से एक आखिरकार अब आया है। भले ही लोग इसके समय, उनकी ठीक-ठीक भूमिका और स्थिति पर बहस करें लेकिन मेरे लिए असल खबर यह है कि उन्होंने आखिरकर राजनीति में उतरने का फैसला किया।

प्रियंका गांधी को बधाई और शुभकामनाएं।'' किशोर ने जदयू में शामिल होने से पहले उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार के तौर पर काम किया था।

इसे भी पढ़ें :

प्रशांत किशोर को लेकर नीतीश कुमार से बार बार यह बात कहते थे अमित शाह

प्रियंका गांधी वाड्रा की इस नियुक्ति को मास्टरस्ट्रोक के तौर पर देखा जा रहा है जिससे उत्तर प्रदेश में पार्टी कार्यकर्ताओं का मनोबल ऊंचा होगा जहां कांग्रेस का प्रभाव पिछले कई सालों के दौरान घटता जा रहा है और समाजवादी पार्टी (सपा) एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने गठबंधन करने की घोषणा की है।

प्रियंका गांधी वाड्रा (47) हिंदी पट्टी उत्तर प्रदेश में अपने भाई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मदद करेंगी, जहां लोकसभा की सर्वाधिक 80 सीटें हैं।