कोलकाता: ममता की रैली में विरोधी नेताओं का लगा जमावड़ा, तय होगा मिशन 2019 का एजेंडा

सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के लिए रैली वाले स्थान के अंदर एवं आस-पास 10,000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी। - Sakshi Samachar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के कोलकाता में शनिवार को तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के नेतृत्व में नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ शनिवार को होने जा रही विपक्ष की महारैली के लिए मंच पूरी तरह सज चुका है। बीजू जनता दल (बीजद) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नीत वाम मोर्चे के अलावा सभी विपक्षी पार्टियों के नेता इस रैली में हिस्सा लेंगे। इस रैली के बारे में तृणमूल कांग्रेस का कहना है कि यह आगामी लोकसभा चुनावों में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए ‘‘ताबूत में आखिरी कील'' होगी।


रैली से पहले ममता ने किया ट्वीट

बनर्जी ने ट्वीट किया, “ब्रिगेड परेड ग्राउंड में ऐतिहासिक “एकजुट भारत रैली” में कुछ ही घंटे शेष हैं। मैं एकजुट, मजबूत एवं प्रगतिशील भारत बनाने की प्रतिज्ञा के लिए सभी राष्ट्रीय नेताओं, समर्थकों एवं लाखों लोगों का इस रैली में हिस्सा लेने के लिए स्वागत करती हूं।” पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा, उनके बेटे एवं कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, शरद पवार, फारुक अब्दुल्ला, शरद यादव, अखिलेश यादव, तेजस्वी यादव, हेमंत सोरेन एवं अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री गेगोंग अपांग समेत 20 से अधिक राष्ट्रीय नेता इस रैली में शामिल होने के लिए शुक्रवार को कोलकाता पहुंचे।

रैली में ये नेता होंगे शामिल

इस रैली में सपा से अखिलेश यादव और बसपा की ओर से बसपा की ओर से सतीश चंद्र मिश्रा के अलावा दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एवं जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं तेदेपा प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू शामिल हैं। इनके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला , आरएलडी के अजीत सिंह और जयंत चौधरीे भी शामिल होंगे। आरएलडी के अजीत सिंह और जयंत चौधरी भी मौजूद रहेंगे। वहीं इस रैली में पार्टी की तरफ से लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और पार्टी के राज्यसभा सदस्य अभिषेक मनु सिंघवी शामिल होंगे।

इसे भी पढ़ें : ऐसी होगी विपक्षी नेताओं की ‘चाय पार्टी’, ममता बनर्जी ने दिए बड़े बदलाव के संकेत

रैली की सफलता के लिए बड़े पैमाने पर की गई तैयारी

रैली की भारी सफलता को सुनिश्चित करने के लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की गई हैं। बड़े-बड़े मंचों के अलावा, 20 टॉवर खड़े गए हैं और 1,000 माइ्क्रोफोन एवं 30 एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं ताकि दर्शक नेताओं को साफ तौर पर देख एवं सुन सकें। सुरक्षा के पुख्ता इंतजामों के लिए रैली वाले स्थान के अंदर एवं आस-पास 10,000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की जाएगी और 400 पुलिस पिकेट लगाए जाएंगे। राज्य भर से तृणमूल कांग्रेस के लाखों समर्थक एवं कार्यकर्ता शहर पहुंच रहे हैं। पुलिस ने बताया कि रैली स्थान के आस-पास वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित कर दी गई है।



Advertisement
Back to Top