नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव के मद्देनजर राहुल गांधी अपनी टीम में फेरबदल की तैयारी कर रहे हैं। इस बात की पुष्टि पार्टी के एक सीनियर नेता ने की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष जल्द अपनी टीम में बदलाव कर सकते हैं। ये बदलाव लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए किए जाएंगे। जहां एक तरफ कुछ नेताओं को टीम में जगह मिल सकती है, वहीं कुछ की छुट्टी होने की संभावना है। सबसे अधिक बदलाव एआईसीसी सचिव और उनके प्रभार में किए जा सकते हैं।

प्रदर्शन के आधार पर आकलन होगा

कांग्रेस के एक नेता के मुताबिक प्रदर्शन के आधार पर सभी का आकलन किया जाएगा। सचिव के तौर पर जिन लोगों ने बेहतर प्रदर्शन किया है, उन्हें लोकसभा चुनाव में कठिन राज्यों का प्रभार दिया जाएगा, ताकि वे संगठन को सक्रिय कर सकें। इसके साथ प्रदर्शन के आधार पर कुछ सचिवों को बदला भी जा सकता है। कई नए सेक्रेटरी बनने की संभावना है।

राहुल गांधी की मौजूदा टीम में एक दर्जन महासचिव, 13 प्रदेश प्रभारी, 56 सचिव और चार ज्वाइंट सेक्रेटरी हैं। इन सचिवों को प्रभारी महासचिव और प्रदेश प्रभारियों के साथ राज्यों की जिम्मेदारी दी गई है। कर्नाटक, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में पांच-पांच सचिवों को प्रभार दिया गया है, उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल में तीन-तीन सचिव हैं।

महासचिवों के प्रभार में भी होगा फेरबदल

कांग्रेस महासचिवों के प्रभार में भी बदलाव किया जाएगा। वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत के राजस्थान का मुख्यमंत्री बनने के बाद भी संगठन प्रभारी का प्रभार का पद संभाल रहे हैं। ऐसे में यह तय है कि संगठन प्रभारी की जिम्मेदारी किसी दूसरे महासचिव को सौंपी जा सकती है। इसके लिए मुकुल वासनिक का नाम सबसे आगे माना जा रहा है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले अजय माकन को एआईसीसी में जगह मिल सकती है।