भोपाल : मध्य प्रदेश में भाजपा सरकार की बिदाई के साथ ही उसके लिए मुश्किलें शुरू हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शासनकाल में 8017 करोड़ की गड़बड़ियां हुई है। यह बात सीएजी की रिपोर्ट में सामने आई है।

विधानसभा के पटल पर रखी गई मध्य प्रदेष नियंत्रक एवं महालेखाकार (सीएजी) की रिपोर्ट में राज्य में 8017 करोड़ की गड़बड़ियां सामने आई हैं। कांग्रेस ने इस पर पहले की शिवराज सरकार पर हमला बोला है। सीएजी की गुरुवार की देर शाम को जारी हुई रिपोर्ट में कहा गया है कि राज्य में घोर वित्तीय अनियमितताएं हुई हैं।

कांग्रेस के प्रवक्ता सईद जाफर ने सीएजी की रिपोर्ट के आधार पर जारी बयान में बताया है कि शिवराज सरकार के काल में हुई वित्तीय अनियमितताओं का खुलासा हुआ है।

यह भी पढ़ें :

इन आंकड़ों के सहारे के बिना कांग्रेस के भाजपा को UP में हरा देने की तैयारी में है SP-BSP

100 करोड़ का लालच देने के आरोप पर भड़की भाजपा, दिग्विजय को बताया शगूफेबाज नेता

सीएजी (कैग) की रिपोर्ट का हवाला देते हुए जाफर ने बताया कि सार्वजनिक क्षेत्र में 1224 करोड़ रुपये का नुकसान, छात्रावास संचालन में 147 करोड़ रुपये की अनियतिता, पेंच परियोजना में 376 करोड़ रुपये की अनियमितता हुई है। वहीं वाटर टैक्स में 6270 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। कुल मिलाकर राज्य में अनियमितता व नुकसान के जरिए 8017 करोड़ की चपत लगी है।